मुख्यपृष्ठखेलक्लीन बोल्ड : क्या पंत आएंगे?

क्लीन बोल्ड : क्या पंत आएंगे?

अमिताभ श्रीवास्तव

बंगलुरु के अभ्यास सत्र में ऋषभ पंत को जब देखा गया तो कयास लगाए जाने लगे कि क्या ऋषभ पंत की टीम में वापसी होगी? पंत की वापसी पर चर्चा होने लगी है, मगर अभी तक बोर्ड की तरफ से कोई इशारा नहीं किया गया है न ही वो आईपीएल में हैं, न ही टीम इंडिया के आगामी विश्वकप टीम में। तो क्या पंत की स्पेशल वापसी होगी या पंत अभी मैदान पर खेलते हुए नहीं दिखेंगे? खेल हलकों में जो चर्चा है, उसमें पंत को सीधे टीम में प्रवेश देने का मतलब मेहनत कर रहे युवा व नए खिलाड़ियों को नजरअंदाज करना होगा। उन्हें पहले घरेलू टूर्नामेंट में अपना प्रदर्शन दिखाना चाहिए, फिर सही रास्ते से चयन यदि होगा तो यह एक बड़ा उदाहरण भी होगा, टीम इंडिया के खिलाड़ियों व आने वाले खिलाड़ियों के सामने। वैसे भी पंत की जगह विकेटकीपरों में के एल राहुल ने काफी खुश किया है और भरत भी टेस्ट के लिए उपयोगी हैं, जीतेश शर्मा टी-२० में सफल प्रदर्शन दिखा भी रहे हैं तो संजू सैमसन, ईशान किशन जैसे भी तैयार हैं। लिहाजा, पंत को लेकर कोई अतिरिक्त भावना का प्रदर्शन नहीं दिखाया जाना चाहिए।

फिन के फन में ढेर
हुआ पाकिस्तान
यह ऐसा फन है, जिसे पाकिस्तान क्रिकेट कभी भूल नहीं पाएगा। अकेले इस फन में ढेर हो गया पाकिस्तान। क्लीन स्वीप का शिकार पाकिस्तान को न्यूजीलैंड के बल्लेबाज फिन एलेन ने ऐसा डसा कि उसकी काट का कोई मंत्र नहीं मिल पाया। न्‍यूजीलैंड के ओपनर फिन एलेन ने डुनेडिन में क्रिकेट पैंâस का भरपूर मनोरंजन किया। एलेन ने पाकिस्‍तान के खिलाफ तीसरे टी-२० इंटरनेशनल मैच में केवल ६२ गेंदों में पांच चौके और १६ छक्‍के की मदद से १३७ रन बनाए। दाएं हाथ के बल्‍लेबाज ने पाकिस्‍तानी गेंदबाजों के होश उड़ा दिए। इस दौरान फिन एलेन ने रिकॉर्ड्स की झड़ी लगा दी। फिन एलेन ने अपनी पारी के दौरान १६ हवाई शॉट खेले। इसी के साथ उन्‍होंने टी-२० इंटरनेशनल मैच की एक पारी में सबसे ज्‍यादा छक्‍के लगाने के रिकॉर्ड की बराबरी की। एलेन ने अफगानिस्‍तान के बल्‍लेबाज हजरतुल्‍लाह जजई के रिकॉर्ड की बराबरी की, जिन्‍होंने २३ फरवरी २०१९ को आयरलैंड के खिलाफ १६२ रन की पारी के दौरान १६ छक्‍के जड़े थे।

सचिन आला रे
१५ महीनों के बाद पैड बांधकर, हेलमेट लगाकर नेट पै्रक्टिस में उतरना और बल्ले से बॉल के संगम से उठी आवाज को संगीत की तरह सुनना, इसी संगीत को अपने जीवन का सबसे खूबसूरत क्षण मानना यह केवल क्रिकेट के भगवान ही कर सकते हैं। जी हां, सचिन तेंदुलकर ने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो क्लिप पोस्ट किया है, जिसमें वो अभ्यास के पूर्व तैयारी करते हुए नजर आ रहे हैं और नेट प्रैक्टिस में पसीना बहा रहे हैं। सचिन ने लिखा है-`जब भी गेंद बल्ले से मिलती है तो यह एक सिम्फनी की तरह होती है। यह संगीत की ध्वनि मुझे शुद्ध आनंद देती है!’ दरअसल, क्रिकेट से प्रेम और क्रिकेट को जीना किसे कहते हैं इसका जीता जागता उदाहरण हैं सचिन तेंदुलकर। नेट प्रैक्टिस में उन्हें खेलते देख लोगों ने कहना शुरू कर दिया है सचिन आला रे..। सचिन की यही खासियत है कि वो क्रिकेट को प्रथम दर्जे पर रखते हैं और यही एक समर्पित खिलाड़ी की पहचान होती है। वाकई यदि उन्हें क्रिकेट का भगवान कहते हैं तो गलत नहीं कहते।
(लेखक वरिष्ठ खेल पत्रकार व टिप्पणीकार हैं।)

अन्य समाचार