मुख्यपृष्ठनए समाचारहिमाचल पर मेघ की मार! तबाही बनकर फिर बरसा बादल

हिमाचल पर मेघ की मार! तबाही बनकर फिर बरसा बादल

• ५३० सड़कें बंद; ३ की मौत, ८ घायल
सामना संवाददाता / शिमला
हिमाचल प्रदेश पर मेघ की मार बार-बार पड़ रही है। प्रदेश में एक बार फिर से बादल आसमान से तबाही बनकर बरसे हैं। विभिन्न स्थानों में अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि ८ लापता बताए जा रहे हैं। साथ ही शिमला समेत प्रदेश की ५३० सड़कें ठप हो गई हैं। सोलन, शिमला, मंडी और हमीरपुर जिले में बिजली संकट गहरा गया है। प्रदेश में भारी बारिश से कुल २,८९७ बिजली ट्रांसफार्मर ठप हो गए हैं। शिमला के गांव शोल (बलदेयां) में भारी भूस्खलन में एक प्रवासी दंपति की मौत हो गई है।
मिली जानकारी के अनुसार, बारिश से शिमला, मंडी, कुल्लू और अन्य जिलों में भारी नुकसान हुआ है। हिमाचल में भारी बारिश के ऑरेंज अलर्ट के बीच तीन एनएच और ५३० सड़कें ठप हो गई हैं। राजधानी शिमला समेत प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में मंगलवार रात से भारी बारिश का दौर जारी है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, २७ अगस्त तक मौसम खराब रहेगा। बारिश की वजह से शिमला-चंडीगढ़, कुल्लू-मनाली और मंडी-पठानकोट एनएच बंद होने से कई क्षेत्रों का संपर्क कट गया है। सोलन, शिमला, मंडी और हमीरपुर जिला में बिजली संकट गहरा गया है।
शिमला में मलबे से दबकर दो की मौत
शिमला के गांव शोल (बलदेयां) में भारी भूस्खलन में एक प्रवासी दंपति दब गया। सूचना मिलते ही एसएचओ ढली, प्रभारी पीपी मशोबरा और पुलिस टीम मौके पर पहुंची, जहां गांव में लैंड स्लाइड प्वाइंट के पास पति-पत्नी के दो शव बरामद हुए हैं। दंपति ठेकेदार हरिओम शर्मा की कंस्ट्रक्शन साइट पर मजदूरी कर रहे थे। उधर सोलन के बद्दी मुख्य बैरियर पुल का एक पिलर ढह गया है। पुल बीच में झुक गया है। अब पुल पर यातायात स्थाई रूप से बंद कर दिया गया है। लोग पैदल यात्रा भी नहीं कर सकेंगे। ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि चंडीगढ़ पंचकुला से सिसवां रोड के माध्यम से यात्रा करने वाले लोग बीबीएन में प्रवेश के लिए मारनवाला बरोटीवाला के माध्यम से वैकल्पिक मार्ग ले सकते हैं। इसके अलावा नदी नालों के किनारे मकान खाली कराए हैं। पुलिस पेट्रोलिंग कर रही है। अनावश्यक घर से बाहर न निकलने की अपील की गई है। हिमाचल पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है। उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने परिवहन निगम के चालकों को बस चलाने को लेकर किसी भी तरह का जोखिम न लेने के निर्देश दिए हैं।

अन्य समाचार

लालमलाल!