मुख्यपृष्ठसमाज-संस्कृतिहाथी रोग उन्मूलन कार्यक्रम के लिए आयुक्त ने जनता से की सहयोग...

हाथी रोग उन्मूलन कार्यक्रम के लिए आयुक्त ने जनता से की सहयोग की अपील

सामना संवाददाता/भिवंडी
हाथी रोग जैसी बीमारी एक बार हो जाए तो इसका कोई इलाज नहीं है। इस बीमारी को होने से रोकने के लिए भिवंडी मनपा क्षेत्र में हाथी रोग उन्मूलन अभियान चलाया जा रहा है और उन्मूलन के लिए नागरिकों को मुफ्त गोलियां वितरित की जाएंगी। हाथी रोग की बीमारी को लेकर मनपा आयुक्त अजय वैद्य ने नागरिकों से सहयोग की अपील की है। वे इंदिरा गांधी स्मृति उपजिला अस्पताल परिसर में हाथी रोग उन्मूलन कार्यक्रम के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे।
महाराष्ट्र सरकार स्वास्थ्य सेवा की ओर से राष्ट्रीय कीट रोग के तहत हाथी रोग उन्मूलन कार्यक्रम 17 से 28 अगस्त तक भिवंडी शहर के नदी नाका स्वास्थ्य केंद्र क्षेत्र में शुरू किया जाएगा। एलिफेंटियासिस का वर्तमान में कोई इलाज नहीं है। यह बीमारी न हो इसका ध्यान रखना जरूरी है। इसके लिए चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग की ओर से नागरिकों को मुफ्त में टेबलेट वितरित किया जाएगा। आयुक्त अजय वैद्य ने सलाह दी कि नागरिक इन गोलियों के सेवन से घबराएं नहीं। आयुक्त अजय वैद्य ने स्वयं डीईसी हाथी रोग उन्मूलन की गोलियां खाकर इस कार्यक्रम की शुरुआत की है। 17 से 28 अगस्त के बीच नदी नाका स्वास्थ्य केंद्र की चिकित्सा स्वास्थ्य टीम नागरिकों के घर-घर जाकर हाथी रोग उन्मूलन की गोलियां वितरित करेगी। नागरिकों को टीम के सामने ही हाथी रोग उन्मूलन टेबलेट लेनी होगी। महानगरपालिका के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि हाथी रोग उन्मूलन के कार्यक्रम को मनपा की चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग की टीम निर्देशानुसार पूरी तन्मयता से कार्य कर रही है।
इस अवसर पर भिवंडी मनपा चिकित्सा अधिकारी डाॅ. बुशरा सैयद, स्व. इंदिरा गांधी अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी मनीषा फड़के पाटील, आईजीएम उप जिला अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी डॉ. कैलास पाटील उपस्थित थे।

अन्य समाचार