मुख्यपृष्ठनए समाचारठाणे अस्पताल कांड पर बिफरी कांग्रेस, वेंटिलेटर पर आ चुकी है, राज्य...

ठाणे अस्पताल कांड पर बिफरी कांग्रेस, वेंटिलेटर पर आ चुकी है, राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था!

सामना संवाददाता / मुंबई
राज्य में सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था खुद बीमार है यानी वेंटिलेटर पर है। अस्पतालों में डॉक्टर, नर्स और दवाइयां नहीं हैं और फिर भी सरकार घोषणा करती है कि १५ अगस्त से सभी सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज किया जाएगा। यह महज खोखली घोषणा है और अपनी पीठ खुद थपथपाने जैसा है, यह बात कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कही।
उन्होंने आगे कहा कि ठाणे मनपा अस्पताल में एक ही रात में १८ लोगों की मौत होना राज्य के लिए शर्मनाक घटना है। दो दिन पहले इसी अस्पताल में ५ लोगों की मौत हो गई थी, लेकिन सरकार की आंखें नहीं खुलीं। केईएम अस्पताल में एक बच्चे का हाथ काटने की नौबत आ गई, जबकि नासिक जिले के इगतपुरी तालुका में एक गर्भवती आदिवासी महिला की भी इसी तरह की लापरवाही के कारण मौत हो गई। राज्य की भ्रष्ट सरकार के खिलाफ इस बारे में जांच करानी चाहिए।
तिलक भवन में सोमवार को मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि ठाणे के अस्पताल में मासूमों की मौत हो गई। ये हाल मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के शहर का है तो फिर राज्य के अन्य जिलों और ग्रामीण इलाके का क्या हाल होगा? इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। पुणे में शरद पवार और अजीत पवार की मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर नाना पटोले ने कहा कि इस तरह की मुलाकात से लोगों में भ्रम की स्थिति पैदा हो रही है। वे आपस में रिश्तेदार हैं तो घर पर जाकर मिल सकते हैं, लेकिन कार में सोते हुए जाने और फिर गुपचुप तरीके से मीटिंग करने का क्या मतलब है? पटोले ने कहा कि मैंने शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ इस पर चर्चा की है। इस संबंध में कांग्रेस नेता राहुल गांधी से भी बातचीत हुई है। इस पर कांग्रेस आलाकमान की भी नजर है। मुंबई में होनेवाली ‘इंडिया’ गठबंधन की बैठक में भी इस पर चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार जनता का पैसा लूट रही है। इस सरकार ने भ्रष्टाचार के नए रिकॉर्ड बनाए हैं।

अन्य समाचार