मुख्यपृष्ठनए समाचारकांग्रेस नेता सुनील केदार विस से अयोग्य करार!

कांग्रेस नेता सुनील केदार विस से अयोग्य करार!

सामना संवाददाता / मुंबई
कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री सुनील केदार को धन के दुरुपयोग से संबंधित एक मामले में कोर्ट द्वारा दोषी करार दिया गया है। इसके बाद उनको विधानसभा से अयोग्य करार दे दिया गया है। सुनील केदार को नागपुर डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के धन के दुरुपयोग का दोषी पाया गया है।
राज्य विधानमंडल से शनिवार को एक गजट नोटिफिकेशन जारी हुआ, जिसमें कहा गया है कि सुनील केदार को २२ दिसंबर को दोषी पाए जाने के कारण संविधान के अनुच्छेद १९ (१) (ट) और जन प्रतिनिधि अधिनियम, १९५१ के सेक्शन ८ के तहत बतौर विधायक अयोग्य करार दिया जाता है। केदार सावनेर सीट से विधायक थे। आदेश के मुताबिक, जिस दिन उन्हें दोषी साबित किया गया उसी दिन से यह सीट रिक्त हो गई है। दरअसल, शुक्रवार को नागपुर में मजिस्ट्रेट कोर्ट ने सुनील केदार समेत छह लोगों को पांच साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई थी। यह २००२ का मामला है।
इन धाराओं के तहत हैं दोषी
सुनील केदार पांच बार विधायक रह चुके हैं। उन्हें आईपीसी की धारा ४०६, ४०९, ४६८, ४७१, १२० (ब) और ३४ के तहत दोषी पाया गया है। सभी छह आरोपियों पर १०-१० लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। अभियोजन पक्ष के अनुसार, एनडीसीसीबी को २००२ में सरकारी प्रतिभूतियों में १२५ करोड़ का नुकसान हुआ, क्योंकि होम ट्रेड प्रा. लि. के माध्यम से धन निवेश करते समय नियमों का उल्लंघन किया गया था। उस वक्त सुनील केदार बैंक के चेयरमैन थे।
कोर्ट ने आदेश में कही यह बात
अपने आदेश में कोर्ट ने कहा कि केदार और अन्य आरोपियों ने बैंक का सारा शेयर सौंप दिया और यह धन आम लोगों की गाढ़ी कमाई थी, जिनमें से अधिकांश नागपुर के गरीब किसान थे। कोर्ट ने कहा कि इतनी बड़ी राशि एक बैंक की वित्तीय स्थिति को गिराने के लिए काफी थी, जो कि अंत में हजारों सदस्यों और कर्मचारियों को प्रभावित करता है। जो लोग उच्च पदों पर होते हैं, उनकी जिम्मेदारी भी बड़ी होती है, ताकि किसी भी सदस्य का एक भी रुपया बर्बाद न हो।

अन्य समाचार