मुख्यपृष्ठनए समाचारस्वतंत्रता दिवस पर कश्मीर को दहलाने की साजिश नाकाम! .... पुलवामा में...

स्वतंत्रता दिवस पर कश्मीर को दहलाने की साजिश नाकाम! …. पुलवामा में 30 किलो आईईडी बरामद

सुरेश एस डुग्गर
जम्मू। पुलवामा में बुधवार को पुलिस और सुरक्षाबलों ने स्वतंत्रता दिवस से पहले एक बड़े हमले की साजिश को नाकाम कर दिया। सुरक्षाबलों ने शहर में सर्कुलर रोड पर तहाब क्राॅसिंग के पास 25-30 किग्रा आईईडी को बरामद कर लिया। आईईडी को निष्क्रिय कर दिया गया है। दूसरी ओर सुरक्षाबलों ने जिन तीन शीर्ष आतंकियों को घेरे में लिया है उनके साथ समाचार भिजवाए जाने तक मुठभेड़ जारी थी।

एडीजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बताया पुलवामा पुलिस को मिली गोपनीय जानकारी के आधार पर कार्रवाई करते हुए पुलिस और अन्य सुरक्षाबलों ने बड़े हमले की साजिश को नाकाम कर दिया। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। आईईडी को यहां तक पहुंचानेवाले और यहां से आईईडी उठाने के लिए आनेवालों की तलाश की जा रही है। हर आने-जानेवाले वाहन की जांच की जा रही है। एडीजीपी कश्मीर विजय कुमार ने इस बात की पुष्टि करते हुए बताया कि आइईडी का वजन 25 से 30 किलोग्राम था।

इस बीच स्वतंत्रता दिवस पर घाटी में आतंकी हमले की योजना बना रहे लश्कर-ए-ताेयबा के हिट स्क्वाड द रजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) के तीन आतंकियों को सुरक्षाबलों ने मध्य कश्मीर के जिला बडगाम के वाटरहेल इलाके में घेर लिया है। दोनों ओर से गोलीबारी का सिलसिला जारी है। एडीजीपी कश्मीर विजय कुमार ने आतंकियों की घेराबंदी की पुष्टि करते हुए बताया कि घेराबंदी में टीआरएफ का सक्रिय आतंकी लतीफ राथर में शामिल है।

ये आतंकी वाटरहेल इलाकेे के ऊपरी पहाड़ी इलाके में छिपे हुए हैं। जंगल घना होने की वजह से आतंकी पेड़ों की आड़ में सुरक्षाबलों पर लगातार गोलीबारी कर रहे हैं। सुरक्षाबलों का पूरा प्रयास है कि अंधेरा होने से पहले-पहले इन आतंकवादियों को मार दिया जाए। फिलहाल आतंकवादी जंगल की आड़ में फरार न हो जाएं, इसके लिए पूरे क्षेत्र की घेराबंदी की जा रही है।

एडीजीपी ने बताया कि लतीफ की पुलिस को काफी दिनों से तलाश थी। वह कश्मीर में कई नागरिक हत्याओं में शामिल रह चुका है। कश्मीरी हिंदू राहुल भट्ट और अमरीन भट की हत्या में भी उसी का हाथ था। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द घेराबंदी में फंसे सभी आतंकियों को मार गिराया जाएगा।

अन्य समाचार