मुख्यपृष्ठनए समाचाररशिया से एमबीबीएस और एमडी फिजीशियन बन कर लौटी कांस्टेबल की डॉक्टर...

रशिया से एमबीबीएस और एमडी फिजीशियन बन कर लौटी कांस्टेबल की डॉक्टर बिटिया! 

देश का नाम रौशन किया
चंद्रकांत दुबे / भायंदर
मीरा-भायंदर, वसई-विरार पुलिस आयुक्तालय के नवघर पुलिस स्टेशन में हेड कांस्टेबल के पद पर कार्यरत गौतम तोत्रे की बेटी श्वेता रशिया के कांट बालटिक फेडरल यूनिवर्सिटी कालीनिनग्राड से एमबीबीएस और एमडी फिजीशियन की डिग्री हासिल कर मीरा-भायंदर सहित महाराष्ट्र और देशभर को गौरवान्वित किया है।
बता दें कि श्वेता गौतम तोत्रे एमबीबीएस, एमडी. फिजीशियन की परीक्षा में ८० प्रतिशत अंकों के साथ `ए’ ग्रेड की डिग्री हासिल कर डॉक्टर बनी हैं। श्वेता का सम्मान नवघर पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक विजय पवार ने किया, जहां उनके पिता कार्यरत हैं।
संघर्ष के बीच पढ़ाई रही जारी
श्वेता ने बताया कि जब मेरिट सूची में उनका नाम आया, तब उनके पिता कांस्टेबल थे। उनकी इतनी आय नहीं थी कि वे उन्हें विदेश में पढ़ा सकें। उनका हौसला उनकी मां ने बढ़ाया, उनकी जिद थी कि उनकी होनहार बेटी विदेश में जाकर पढ़ाई करे।
कोरोना काल बनी विपरीत परिस्थिति
श्वेता के अनुसार, बेहद विपरीत परिस्थितियों में उन्हें पढ़ाई करना पड़ा, प्रैक्टिकल परीक्षा को पूरा महत्व देते हुए इस परीक्षा में सफल होना मुश्किल था। कोविड संक्रमण के दौर में जब पूरी दुनिया परेशान थी, विदेश में पढ़ाई और प्रैक्टिकल पूरा करना तथा जर्नल सबमिशन चुनौतीपूर्ण था। लॉकडाउन के दौरान तमाम छात्र परेशान थे, खाने-पीने का अभाव था, ऐसी विपरीत परिस्थिति में लक्ष्य पूरा करना किसी चैलेंज से कम नहीं था। माता-पिता और रिश्तेदारों का समर्थन और साथी सहपाठियों ने उनका मनोबल नहीं टूटने दिया।
बेटियों का बढ़ाएं मनोबल
वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक विजय पवार ने कहा कि बेटियां घर की लक्ष्मी हैं, साथ ही वे अब सभी क्षेत्रों में देश का गौरव बढ़ा रही हैं। देश की बेटियां सेना में हैं, पॉयलट बन कर देश की रक्षा कर रही हैं। इसलिए सभी को अपनी बेटियों का मनोबल बढ़ाना चाहिए तथा वे जिस क्षेत्र में जाना चाहें, उनका पूरा सहयोग करना चाहिए।

अन्य समाचार

लालमलाल!