मुख्यपृष्ठसमाचारविवादित मीडिया सेल संयोजक बना... गुजरात विद्यापीठ का कुलपति!

विवादित मीडिया सेल संयोजक बना… गुजरात विद्यापीठ का कुलपति!

-महात्मा गांधी के हाथों स्थापित शैक्षणिक संस्थान की प्रतिष्ठा भाजपा ने मिट्टी में मिलाई

सामना संवाददाता / अमदाबाद

आजकल गुजरात विद्यापीठ सुर्खियों में छाया हुआ है। बताया जाता है कि इस विद्यापीठ के कुलपति पद पर भाजपा के पूर्व मीडिया सेल संयोजक और वर्तमान में गांधीनगर में भारतीय शिक्षक शिक्षा संस्थान (आईआईटीई) के कुलपति हर्षद पटेल की नियुक्ति की गई है। इनकी योग्यता को लेकर नियुक्ति के बाद से ही लोग विरोध जता रहे हैं। इसके पहले इसी पद पर राजेंद्र खिमानी थे, जिन्हें आवश्यक शैक्षणिक अनुभव की कमी और वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों के कारण यूजीसी ने कारण बताओ नोटिस जारी किया था, उसके बाद से ही राजेंद्र खिमानी को पद छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा था। यह मामला गुजरात हाई कोर्ट भी गया था। बता दें कि गुजरात विद्यापीठ एक डीम्ड विश्वविद्यालय है, जिसकी स्थापना १०० साल पहले महात्मा गांधी ने की थी।
कोर्ट ने दी है क्लीनचिट
सूत्रों के अनुसार, हर्षद पटेल इस विद्यापीठ के १७वें कुलपति हैं, जिनकी नियुक्ति गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने की है। खुद देवब्रत २०२२ से विद्यापीठ के कुलाधिपति के रूप में कार्य किया है, दिलचस्प बात यह है कि २०२० में आईआईटीई के कुलपति के रूप में हर्षद पटेल की नियुक्ति को भी इस आधार पर हाई कोर्ट में चुनौती दी गई थी कि उनके पास विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नियमों के अनुसार कॉलेज प्रोफेसर के रूप में १० साल के अनुभव सहित आवश्यक योग्यता का अभाव था। अदालत ने यह कहते हुए याचिका खारिज कर दी कि ‘उनकी नियुक्ति के संबंध में कोई अनियमितता नहीं बरती गई है।

अन्य समाचार