मुख्यपृष्ठनए समाचारयूपी में कोरोना ने बढ़ाई धुकधुकी ...लखनऊ में एक महिला की मौत,...

यूपी में कोरोना ने बढ़ाई धुकधुकी …लखनऊ में एक महिला की मौत, एटा में जांच न होने का आरोप!

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता नजर आ रहा है। कोरोना के नए वैरिएंट जेएन-1 ने मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। इसके मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग ने सभी राज्यों को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। इस बीच लखनऊ में कोरोना संक्रमित महिला की मौत हो गई है। जानकारी के अनुसार, 63 वर्षीय महिला कुछ दिनों पहले केरल के त्रिवेंद्रम से वापस लौटी थी। इस दौरान जांच में वह कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी, जिसके बाद उन्हें लखनऊ के एसजीपीजीआई में भर्ती किया गया था। महिला लखनऊ के मोहनलालगंज की रहने वाली थी। वह किडनी समेत कई गंभीर बीमारियों से भी ग्रसित थी। केरल से लौटने पर महिला के सैंपल को जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा गया था।
इसके बाद कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर सरकार लगातार निर्देश जारी कर रही है। जरूरत पर मरीज की आरटीपीसीआर जांच कराने को भी कहा है। सर्दी के कारण इन दिनों खांसी के साथ सांस और बुखार के मरीज बढ़े हैं। इसी क्रम में एटा मेडिकल कॉलेज में प्रतिदिन बढ़ी संख्या में मरीज इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। चिकित्सकों की मानें तो पांच से छह मरीज कोरोना के लक्षण वाले भी पहुंच रहे हैं। चिकित्सक उनकी आरटीपीसीआर जांच को पर्चे पर परामर्श लिख रहे हैं, लेकिन उनकी जांच के लिए सैंपल नहीं लिया जा रहा है। मंगलवार को 30 वर्षीय महिला बुखार से पीड़ित होने पर पहुंची। उसे खांसी भी बहुत आ रही थी। चिकित्सक ने आरटीपीसीआर की जांच को पर्चे पर लिख दिया, लेकिन लैब में उसकी जांच नहीं की गई। इस तरह के तीन अन्य मरीजाें को भी मना कर दिया गया। ऐसे में यह सभी बिना जांच कराए दवा लेकर वापस लौट गए। सूत्रों की मानें तो जांच की कोई व्यवस्था अधिकारियों द्वारा नहीं की गई है। जेल जाने वाले बंदियों की एंटीजन किट से जांच हो जाती है। इसके अलावा अन्य किसी की जांच नहीं हो रही है।

अन्य समाचार