मुख्यपृष्ठसमाचारकोरोना ने मारा, मनपा ने तारा! २०० कोरोना योद्धाओं के परिवारों...

कोरोना ने मारा, मनपा ने तारा! २०० कोरोना योद्धाओं के परिवारों को `५० लाख की मदद

  • १६० लोगों को मिली नौकरी

सामना संवाददाता / मुंबई
कोरोना से शुरू लड़ाई में मुंबईकरों की जान बचाने के लिए २४ घंटे मुस्तैदी से काम करते हुए जान गंवानेवाले २०० कर्मचारियों के परिवारों की मनपा ने ५० लाख रुपए की मदद की है, इसके साथ ही १६० लोगों को मनपा सेवा में नौकरी भी दी गई है। बता दें कि मनपा की इस लड़ाई में अब तक २७० कर्मचारियों की मौत हो चुकी है। ऐसे में कहा जा रहा है कि कोरोना भले ही लोगों को मार रहा हो, लेकिन मनपा तारने (उद्धार) का काम कर रही है।
मार्च २०२० से अब तक मुंबई कोरोना की तीन लहरों को झेल चुकी है। मनपा और राज्य सरकार की सफल योजना के चलते मुंबई जैसे घनी आबादी वाले शहर में तीनों लहरों को सफलतापूर्वक काबू में किया गया। कोरोना के शुरुआती दिनों में लोगों में दहशत का माहौल था। मनपा के लगभग १ लाख १० हजार नियमित और २५ से ३० हजार ठेका कर्मचारी इस लड़ाई में चौबीसों घंटे अपना योगदान दे रहे थे। इस बीच कई कर्मचारियों की मौत हो गई। मरनेवाले कुल २७० कर्मचारियों में से मनपा ने १७७ मृतक कर्मचारियों के परिवारों को ५० लाख की आर्थिक सहायता प्रदान की। इसी तरह २३ लोगों को केंद्र सरकार के माध्यम से ५० लाख की सहायता प्रदान की गई। सभी मृतक कर्मचारी जिनके वारिस अवयस्क हैं, उन्हें १८ वर्ष की आयु पूर्ण होने पर रोजगार दिया जाएगा, वहीं मृतक के परिवार से किसी एक को मनपा में रोजगार का लाभ दिया जा रहा है।

अन्य समाचार