मुख्यपृष्ठनए समाचारCBI के रडार पर मध्य रेलवे के भ्रष्ट अधिकारी! ... साल २०२२...

CBI के रडार पर मध्य रेलवे के भ्रष्ट अधिकारी! … साल २०२२ में अब तक ३ अधिकारी नपे

सुजीत गुप्ता / मुंबई
मध्य रेलवे में भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। हाल ही में सीबीआई ने मध्य रेलवे के प्रमुख मुख्य यांत्रिक अभियंता एके गुप्ता को भ्रष्टाचार के मामले में रंगे हाथ घूस लेते हुए गिरफ्तार किया है। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि मध्य रेलवे के इंजीनियर या अधिकारी सीबीआई के चंगुल में फंसे हो। मध्य रेलवे में साल २०२२ में भ्रष्टाचार के मामलों पर गौर फरमाए तो अब तक तीन मामले सामने आ चुके हैं। छोटे से लेकर बड़े अधिकारियों पर भ्रष्टाचार की ये गाज गिरी है। भ्रष्टाचार के मामले में हमेशा मध्य रेलवे के अधिकारी ही सीबीआई के रडार पर आ रहे हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि मध्य रेलवे में भ्रष्टाचार किस कदर फल-फूल रहा है?
बता दें कि २७ सितंबर को सीबीआई ने एक प्रमुख मुख्य यांत्रिक अभियंता, मध्य रेलवे और दो अन्य लोगों को एक लाख रुपए की रिश्वत लेने के अपराध में गिरफ्तार किया और जांच के दौरान करीब २३ लाख रुपए की नकद वसूली की है। सीबीआई ने ये गिरफ्तारी छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस मुंबई से की। इस गिरफ्तारी के बाद अधिकारी के मुंबई, कोलकाता, गाजियाबाद, नोएडा, देहरादून, दिल्ली समेत १० ठिकानों पर तलाशी ली गई। प्रधान मुख्य यांत्रिक अभियंता के परिसर में तलाशी के दौरान करीब २३ लाख रुपए नकद, लगभग ४० लाख रुपए के हीरे सहित आभूषण बरामद किए गए हैं। इसी तरह करोड़ों रुपए की संपत्ति भी जप्त की है। इसके अलावा इसी साल १४ फरवरी २०२२ को सीबीआई ने रेलवे के तत्कालीन वरिष्ठ मंडल विद्युत अभियंता (कुर्ला) और सात अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया और तलाशी ली थी। सीबीआई ने तत्कालीन वरिष्ठ मंडल विद्युत अभियंता, कुर्ला, मध्य रेलवे के खिलाफ मामला दर्ज किया था। भ्रष्टाचार का ये मामला रेलवे में होने वाले गैर-स्टोर वस्तुओं को उच्च लागत पर खरीदने का था। जांच के दौरान करीब २२ करोड़ रुपए का घोटाला सामने आया था। इसी तरह १ अप्रैल २०२२ को सीबीआई ने तलाशी के दौरान १.८० लाख रुपए की रिश्वत स्वीकार करने और ६०.६२ लाख रुपए (लगभग) की नकद वसूली के लिए मध्य रेलवे के एक सहायक मंडल अभियंता को गिरफ्तार किया। इस मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने शिकायतकर्ता से १.८० लाख रुपए की रिश्वत मांगने और स्वीकार करने के आरोप में एक सहायक मंडल अभियंता (दक्षिण), मध्य रेलवे, नागपुर को गिरफ्तार किया था।

अन्य समाचार