मुख्यपृष्ठनए समाचारराजौरी में रची जा रही है खूनी खेल की खौफनाक साजिश!!! ...

राजौरी में रची जा रही है खूनी खेल की खौफनाक साजिश!!! आतंकियों ने बढ़ाई सुरक्षाबलों की टेंशन

  • ११ अगस्त के फिदायीन हमले के बाद से ही राजौरी में आतंकियों की मौजूदगी की खबरें सुरक्षाबलों को कर रही परेशान

सुरेश एस. डुग्गर / जम्मू

पिछले दिनों ११ तारीख को एलओसी से सटे राजौरी में सेना की चौकी पर फिदायीन हमला कर चार जवानों की जान लेनेवाले दो आतंकियों को तो ढेर कर दिया गया था लेकिन उनके साथियों को फिलहाल तलाशा नहीं जा सका है। हालांकि उनके बारे में बार-बार सूचनाएं मिल रही हैं कि वे राजौरी में ही कहर बरपाने के इरादे से छिपे हुए हैं। सुरक्षाधिकारियों की मानें तो ११ अगस्त को मारे गए दोनों फिदायीन एक बड़े दल का हिस्सा थे। वे उसी रात एलओसी को पार कर इस ओर घुसे थे। हालांकि घुसनेवाले फिदायीनों की सही संख्या तो किसी को मालूम नहीं है पर विभिन्न स्त्रोतों से मिली जानकारी के मुताबिक इस दल में १० से १२ आतंकी थे जो अति प्रशिक्षित थे।
रक्षाधिकारियों का कहना था कि इस दल के दो सदस्यों को राजौरी शहर में भी देखा गया है पर वे वहां से बच निकले हैं जिस कारण राजौरी में दहशत का माहौल है। एक पुलिस अधिकारी के अनुसार आतंकियों के राजौरी में घुस आने की खबरों के बाद हाई अलर्ट जारी किया जा चुका है।
रक्षा सूत्रों का यह भी कहना था कि घुसपैठ करनेवाले आतंकी बड़े खतरनाक इरादे लेकर आए हैं। इसकी पुष्टि मारे गए दो आतंकियों से बरामद दस्तावेजों से हुई है। हालांकि उन्हें शक था कि ये आतंकी दल पाक सेना को भारतीय सीमा चौकियों पर हमलों में मदद के लिए भी तैयारी कर रहे हैं।
यही नहीं राजौरी व पुंछ के रास्ते अधिक आतंकियों को इस पार धकेलने के इरादों से पाक सेना सीजफायर को भी दांव पर लगाने की तैयारियों में है। ऐसी खबरों के उपरांत एलओसी पर सुरक्षा ग्रिड को मजबूत बनाने के अलावा अतिरिक्त जवानों की तैनाती भी की गई है।
हिंदुओं पर हमले का षड्यंत्र
कश्मीर में सुरक्षाबलों के कड़े प्रहार से सिर छिपा रहे आतंकी अब राजौरी और पुंछ जिले को निशाने पर लेने की फिराक में हैं। यह षड्यंत्र लश्कर-ए-तोयबा,जैश-ए-मोहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन व अन्य आतंकी संगठनों के कमांडरों ने कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान की सेना और उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई के उच्च अधिकारियों के साथ मिलकर रची है। इसके तहत राजौरी और पुंछ में ज्यादा से ज्यादा आत्मघाती हमले करने करने का खूनी खेल रचा गया है। इतना ही नहीं हिंदुओं, सियासी नेताओं और अधिकारियों को भी निशाने पर लेने की घिनौनी सोच भी सामने रखी गई है।

 

अन्य समाचार