मुख्यपृष्ठनए समाचारकरोड़ों स्वाहा, फिर भी गड्ढे बरकरार ... बाप्पा की राह में रोड़े...

करोड़ों स्वाहा, फिर भी गड्ढे बरकरार … बाप्पा की राह में रोड़े हजार!

• मंडलों ने जताई नाराजगी
•  मनपा ने दिया आश्वासन

सामना संवाददाता / मुंबई
महाराष्ट्र के सबसे लोकप्रिय त्योहार गणेशोत्सव के लिए अभी एक महीने से अधिक समय बचा है। हालांकि, गणेश भक्तों ने बाप्पा के आगमन को लेकर अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडलों की बड़ी मूर्तियां मंडप के लिए रवाना होने लगी हैं। लेकिन सड़क पर बड़े और खतरनाक गड्ढे और पेड़ों की लटकी शाखाओं से मंडल के पदाधिकारी परेशान हैं। बाप्पा को लाने के दौरान सड़कों पर हुए अनगिनत गड्ढों और वृक्ष की लटकी शाखाओं से गणेश मंडलों में मनपा के प्रति भारी नाराजगी है। लोगों का कहना है कि सड़क मरम्मत के नाम पर करोड़ों रुपए स्वाहा कर दिए लेकिन बाप्पा की राह में पड़े हजारों रोड़े बरकरार हैं। ऐसे में मनपा ने मंडलों को अगले एक सप्ताह में मुंबई के सभी गुड्ढे भरने और अड़चनवाली वृक्ष शाखाओं को काटने की तैयारी दर्शाई है। मनपा अधिकारी के अनुसार, गड्ढों को पाटने और रोड़ा बन रहे पेड़ों की छंटाई की प्रक्रिया दो-चार दिन में पूरी कर ली जाएगी।
व्यवस्था करने में मनपा हुई फेल
बता दें कि सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडलों में गणेश जी की बड़ी-बड़ी मूर्तियां स्थापित की जाती हैं। श्रद्धालुओं को आकर्षित करने के लिए बड़े मंडलों द्वारा मंडप में झांकियां बनाई जाती हैं। ऐसे में गणेश प्रतिमा को लगभग एक से डेढ़ महीने पहले ही मंडप में ले जाना आवश्यक होता है। इस वजह से बाप्पा के आगमन मार्ग को दुरुस्त रखना जरूरी होता है, लेकिन मनपा गड्ढों व पेड़ों की शाखाओं की छंटनी की समस्या निवारण करने में फेल साबित हुई है, जिसे लेकर गत दिनों मनपा प्रशासन और सार्वजनिक गणेशोत्सव समिति के बीच बैठक हुई और गड्ढों एवं आदि विषयों पर चर्चा हुई।
जस के तस पड़े हैं गड्ढे
बैठक में हुए निर्णय के अनुसार, मनपा प्रशासन को कार्रवाई करनी चाहिए थी, लेकिन जिन मार्गों से बाप्पा का आगमन होना है, उन मार्गों पर गड्ढे जस के तस पड़े हुए हैं। पेड़ों की लटकी शाखाओं की छंटनी नहीं हुई है, जिससे मूर्तियों को ले जाना मुश्किल हो रहा है। जिसे लेकर गणेश मंडलों ने मनपा के प्रति कड़ी नाराजगी व्यक्त की है। अब मनपा ने फिर से आश्वस्त किया है कि अगले चार से पांच दिनों में बाप्पा के आगमन वाले सभी मार्गों पर गड्ढे पाट दिए जाएंगे।

अब तक ५०९ मंडलों को मिली अनुमति
सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडलों को उत्सव व झांकी बनाने की अनुमति के लिए मनपा में आवेदन करना होता है। इस महीने एक अगस्त से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया गया है। अब तक कुल ९५९ सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडलों ने अनुमति के लिए मनपा में आवेदन किया है, इनमें से ५०९ मंडलों को अनुमति दे दी गई है। शर्तें पूरी नहीं करने पर २० मंडलों को अनुमति नहीं दी गई है। बाकी आवेदन मंजूरी की प्रक्रिया में हैं।

अन्य समाचार

लालमलाल!