मुख्यपृष्ठअपराधठगों का खत्म होगा खेल एक्टिव हुई सायबर सेल!

ठगों का खत्म होगा खेल एक्टिव हुई सायबर सेल!

सामना संवाददाता / मुंबई
इंटरनेट की इस दुनिया में साइबर ठगी आम बात हो गई है। हर दिन ऐसे मामले सामने आते हैं, जिनमें लोग सायबर ठगों का शिकार हो रहे हैं। अब महाराष्ट्र सायबर सेल ने इन अपराधियों पर लगाम लगाने की तैयारी शुरू कर दी है। महाराष्ट्र सायबर सेल की तरफ से हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है, जिसके माध्यम से ठगी के शिकार होने वाले नागरिक तुरंत शिकायत दर्ज करा सकते हैं। ठगी की शिकायत मिलते ही पुलिस भी एक्टिव हो जाएगी और समय रहते लगाम लग पाएगी। बता दें कि पिछले कुछ वर्षों में सायबर ठगी के मामलो में बढ़ोतरी हुई है। सबसे अधिक ऐप से लोन देने और केवाईसी के नाम पर ठगी की घटनाओं में सबसे अधिक बढ़ोतरी हुई है। इन सब घटनाओं को देखते हुए महाराष्ट्र सायबर सेल की तरफ से हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। ठगी के शिकार नागरिक १९३० नंबर पर घटना की जानकारी तुरंत दे सकते हैं।
गृहमंत्री दिए थे निर्देश
राज्य में बढ़ते सायबर अपराधों पर लगाम लगाने के लिए सरकार द्वारा जल्द ही प्रारूप और नियामक प्राधिकरण का गठन किया जाने वाला है। हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील ने कहा था कि तकनीक का इस्तेमाल करके ब्लैकमेलिंग की जा रही है। अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें निर्देश दिए हैं कि सायबर अपराधों पर लगाम लगाने पर जोर दें। मुंबई में सायबर के चार जबकि अन्य सभी जिलों में एक-एक अलग पुलिस स्टेशन हैं। इसके अलावा सायबर अपराध पर लगाम लगाने के लिए केंद्र सरकार और गूगल की भी मदद ली जा रही है। ऐप के जरिए लोन मिलने के चलते कई विद्यार्थी भी इसके जाल में फंस जा रहे हैं। यह सिर्फ  हमारे देश की नहीं बल्कि एक अंतर्राष्ट्रीय समस्या बन चुकी है। इसलिए साइबर अपराधों से निपटने के लिए रूपरेखा और नियामक प्राधिकरण तैयार करने पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है।
दो वर्षों में २ हजार शिकायत
पिछले दो वर्षों में सायबर सेल द्वारा २ हजार ८४ शिकायत दर्ज की गई है। यह सभी शिकायत ४२० ठगी, ३८३ ब्लैकमेलिंग, ५०० मानहानि और आईटी एक्ट के अंतर्गत शिकायत दर्ज की गई है।

 

अन्य समाचार