मुख्यपृष्ठसमाचारमुंबई में दही-हंडी का रोमांच; १११ गोविंदा हुए घायल

मुंबई में दही-हंडी का रोमांच; १११ गोविंदा हुए घायल

सामना संवाददाता / मुंबई
मुंबई में कल दही-हंडी की धूम देखने को मिली। लगभग दो साल तक वैश्विक महामारी कोरोना के कारण पाबंदियों में रहने से घुटन महसूस कर रहे मुंबईकरों में दही-हंडी को लेकर जबरदस्त रोमांच देखने को मिला। हालांकि इस दौरान हुए हादसे में कई गोविंदा घायल भी हुए।
बता दें कि कल दही-हंडी समारोह के दौरान थर लगाते समय संतुलन बिगड़ने से नीचे गिरने से मुंबई में १११ गोविंदा घायल हो गए। मनपा के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार घायल गोविंदाओं में से ८८ को सरकारी अस्पतालों में प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। जबकि २३ को अस्पताल में भर्ती किया गया और उनकी हालत स्थिर बताई गई है। इनमें से ज्यादातर गोविंदाओं का केईएम अस्पताल में इलाज किया गया। उल्लेखनीय है कि इस उत्सव के दौरान दही से भरी मटकी को ऊंचाई पर लटकाया जाता है। साथ ही मानव पिरामिड बनाकर गोविंदा उसे तोड़ते हैं। जन्माष्टमी के मौके पर पूरे महाराष्ट्र में इस खेल का आयोजन किया जाता है। खेल के दौरान प्रतिभागियों के गिरने और घायल होने की घटनाएं आम बात हैं। मुंबई और ठाणे जैसे शहरों में दही-हंडी कार्यक्रमों और गोविंदा मंडलियों को काफी राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है। वहीं कोरोना के नियंत्रण में आने के बाद गुरुवार को देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई गई, जबकि दही-हंडी पर्व कल मनाया गया।

अस्पताल घायल गोविंदा
जे. जे. २
सेंट जॉर्ज ३
जी. टी. १२
नायर ११
केईएम ३०
सायन ९
बांद्रा भाभा ५
ट्रॉमा अस्पताल ६
कूपर  ६
डॉ. बाबासाहेब अस्पताल २
वी. एन. देसाई ८
राजावाड़ी १०
पोद्दार ६
एमटी अग्रवाल १
ठाणे शहर में ३७ गोविंदा घायल
२९ का इलाज करके छोड़ दिया गया
८ का चल रहा है इलाज

अन्य समाचार