मुख्यपृष्ठनए समाचारदेश में फैला है अंधकार , हाथ में उठा लो मशाल! ......

देश में फैला है अंधकार , हाथ में उठा लो मशाल! … आदित्य ठाकरे की अपील … धारावी, वडाला दौरे को मिला तूफानी प्रतिसाद

सामना संवाददाता / मुंबई
महंगाई बढ़ गई है। बेरोजगारी शिखर पर जा पहुंची है। भ्रष्टाचार भी बढ़ गया है। सभी जगह अंधकार फैल गया है। उसे दूर करने के लिए हाथ में लेनी ही होगी, ऐसी अपील कल शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने तमाम मुंबईकरों से की। केंद्र में परिवर्तन होगा, मतलब होगा ही ऐसा विश्वास भी उन्होंने इस दौरान व्यक्त किया।
धारावी और वडाला में स्थित शिवसेना शाखाओं में मुलाकात के दौरान आदित्य ठाकरे ने कहा कि एक तरफ जब हम देश के बारे में सोचते हैं, तभी भाजपावाले आते हैं और डींगें हांकते हैं। वे कहते हैं कि हम चार सौ पार करेंगे। एक विज्ञापन था, नो उल्लू बनाविंग.. उसे डाउनलोड करके रखिए और `शिंदे’ गुट या भाजपा का कोई भी व्यक्ति आता है और ऐसा-वैसा कुछ करने के लिए कहता है तो उनसे यही बोलना, `नो उल्लू बनाविंग…
आदित्य ठाकरे ने कहा कि गर्मी बढ़ गई है, लेकिन चुनाव की सरगर्मी अभी तेज नहीं हुई है। १९ अप्रैल से पहले चरण का मतदान शुरू होने तक माहौल और सियासी पारा चढ़ा रहेगा।

मुंबई में अरविंद सावंत, अनिल देसाई, संजय दीना पाटील और अमोल कीर्तिकर इन चार उम्मीदवारों की घोषणा की गई है। हमने दृढ़ता से निर्णय लिया है कि इन चार लोगों को मुंबईकर दिल्ली भेजेंगे। आज शाखा मुलाकात है। इस निर्वाचन क्षेत्र के लिए कोई सभा नहीं है। फिर भी आप सब सुनने के लिए खड़े हैं, क्योंकि आपके साथ खड़ा रहनेवाला व्यक्ति है, वो उद्धव बालासाहेब ठाकरे हैं। इस व्यक्ति के लिए आप एकजुट हुए हैं। आदित्य ठाकरे ने कहा कि लद्दाख में भी ३० से ४० हजार लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। लद्दाख में अनुच्छेद ३७० हटाकर राज्य बनाने की बात कहते हुए इसे केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया। उस समय जिस सांसद ने कहा था कि लद्दाख प्रगति के पथ पर जाएगा, वह आज नजर भी नहीं आते और भाजपा को लगता है कि उनकी लद्दाख में जमानत भी जब्त हो जाएगी। कारण सिर्फ इतना है कि वहां के लोगों की कोई नहीं सुन रहा है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र में अगर भाजपा की सरकार आती है तो धारावीकरों के घरों पर हस्ताक्षर लेने ईडी को भेजेंगे।
आदित्य ठाकरे ने कहा कि लद्दाख और धारावी की स्थिति में खासा अंतर नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि भाजपा के हाथ में महाशक्ति है, वो दिल्ली की पूरी सत्ता काबिज करके बैठी हुई है। ऐसी सत्ता हमे मंजूर नहीं है। आज देश को बचाना है तो सरकार किसी की भी हो, लेकिन मिली-जुली सरकार आनी चाहिए। वह सरकार सबकी होनी चाहिए।
किसी उद्योगपति, अडानी का नहीं होना चाहिए विकास
आदित्य ठाकरे ने कहा कि राज्य में महाविकास आघाड़ी के समय हमने भी टेंडर निकाला था। इसे कोई भी जीत सकता था। लेकिन आज इसलिए विरोध हो रहा है, क्योंकि किसी को अभी तक पता ही नहीं है कि धारावी के पुनर्वास के दौरान कितने लोग पात्र और अपात्र होंगे। मुझे पता चला है कि यहां रहनेवाले एक लाख लोग अपात्र होनेवाले हैं। क्या आप ऐसे विकास से सहमत हैं? आप यहां कितने वर्षों से रह रहे हैं? इसका मतलब है कि हम मूल धारावीकर हैं और यहां घर मिलते समय जो कुछ भी लागू किए गए हैं, हम इसका विरोध करते हैं। लेकिन हमारी यह स्थिति है कि जब धारावी का विकास हो तो केवल धारावी का ही विकास होना चाहिए। किसी उद्योगपति, अडानी का विकास नहीं होना चाहिए। यह हमारा रुख है। उन्होंने इस मौके पर यह भी कहा कि आखिर पीयूष गोयल ने भी मुंबई का एक भी मुद्दा संसद में रखा?

अन्य समाचार