मुख्यपृष्ठअपराधटेरर फंडिंग के लिए बनी दाऊद की स्पेशल यूनिट: हिंदुस्थान को...

टेरर फंडिंग के लिए बनी दाऊद की स्पेशल यूनिट: हिंदुस्थान को हिलाने की थी तैयारी!

  •  एनआईए ने किया खुलासा, नेता भी थे टारगेट पर
  • छोटा शकील के साले को किया गिरफ्तार
  • कुरैशी के परिवार का फलों का है व्यवसाय

कुमार नागमणि / मुंबई
भगोड़ा अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम फिर हिंदुस्थान को हिलाने की तैयारी में था। वो देश में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की फिराक में था। इसके लिए दाऊद ने बाकायदा स्पेशल यूनिट तैयार करके टेरर फंडिंग कर रहा था। साथ ही इस यूनिट के टारगेट पर हिंदुस्थानी नेता भी थे। इसका खुलासा एनआईए के जांच में हुआ है। इस जांच के तहत एनआईए ने बड़ी कार्रवाई करते हुए दाऊद इब्राहिम के करीबी छोटा शकील के साले को गिरफ्तार किया है।
मिली जानकारी के अनुसार एनआईए ने टेरर फंडिंग मामले में दाऊद के करीबी छोटा शकील के साले सलीम कुरैशी को गिरफ्तार किया है। मई महीने में भी एनआईए ने दाऊद इब्राहिम के सहयोगियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए मुंबई और ठाणे में २० ठिकानों पर छापेमारी की थी। इस दौरान कुरैशी को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई। इसके बाद एनआईए ने दाऊद, छोटा शकील और उनके सहयोगियों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया था।
दंगा भड़काने की साजिश
एनआईए द्वारा दर्ज की गई शिकायत के मुताबिक दाऊद इब्राहिम ने हिंदुस्थान पर आतंकवादी हमले की साजिश रचने के साथ ही हमला करने के लिए पाकिस्तान में एक विशेष टीम तैयार किया था। इस टीम का हिंदुस्थान के नेताओं पर हमला करने की योजना थी। एफआईआर में इसका भी उल्लेख किया गया है कि पाकिस्तान में बैठे दाऊद इब्राहिम और छोटा शकील ने हिंदुस्थान में दंगा भड़काने की साजिश भी की थी।
सलीम ने शकील से की मुलाकात
सलीम कुरैशी के परिवार का दक्षिण मुंबई में फलों का व्यवसाय है इसलिए उसे सलीम फ्रुट  के नाम से जाना जाता है। उसे दाऊद इब्राहिम का करीबी भी माना जाता है। छोटा शकील कुख्यात गैंगस्टर है। वह पैसे लेकर अपने गिरोह के जरिए लोगों की हत्या की सुपारी का धंधा चलाता है। उसके खिलाफ रंगदारी के कई मामले भी दर्ज हैं। छोटा शकील पाकिस्तान के दाऊद इब्राहिम के लिए काम करता है। सूत्रों के मुताबिक सलीम फ्रुट पाकिस्तान में छोटा शकील के घर तीन से चार बार गया था।
हसीना पारकर का था सहयोगी
दाऊद इब्राहिम से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच के दौरान ईडी ने सलीम फ्रुट  से कई बार पूछताछ की थी। ईडी को दिए अपने बयान में सलीम फ्रुट ने कहा था कि वह दाऊद इब्राहिम की बहन हसीना पारकर का करीबी सहयोगी था। दावा किया जा रहा है कि हसीना पारकर कई विवादित भूखंडों के लेन-देन में मध्यस्थता कर रंगदारी वसूलने का धंधा चला रही थी।

अन्य समाचार