मुख्यपृष्ठधर्म विशेषदिन विशेष : पुष्य नक्षत्र का शुभ योग... सोना सहित अन्य चीजें...

दिन विशेष : पुष्य नक्षत्र का शुभ योग… सोना सहित अन्य चीजें खरीदने पर होगा धनलाभ!

हिंदू धर्म में किसी भी शुभ या मांगलिक काम को करने से पहले शुभ या अशुभ मुहूर्त जरूर देखा जाता है। शुभ और अशुभ मुहूर्त का निर्धारण ग्रह और नक्षत्रों की दिशा के आधार पर किया जाता है। ऐसे ही जब गाड़ी, मकान, सोना-चांदी आदि की खरीददारी की जाती है, तो भी मुहूर्त का ध्यान रखा जाता है, जिससे कि भविष्य में उसका फल शुभ प्राप्त हो। शास्त्रों के अनुसार ऐसा ही एक नक्षत्र बुध-सूर्य की युति से बन रहा है। इस नक्षत्र में कोई भी शुभ काम के साथ-साथ खरीदारी करना शुभ माना जाता है। पुष्य नक्षत्र बनने पर बृहस्पति, शनि और चंद्र ग्रह का प्रभाव होता है। इसलिए इस नक्षत्र में सोना-चांदी, उपयोगी वस्तुएं, वाहन, बहीखाते, वस्त्र खरीदना या फिर कोई बड़ा निवेश करना शुभ माना जाता है। गुरु बृहस्पति को पुष्य नक्षत्र के देवता के रूप में जाना जाता है। इसके साथ ही शनि ग्रह को पुष्य नक्षत्र का अधिपति ग्रह मानते हैं। इसलिए इस दिन बृहस्पति और शनि ग्रह से संबंधित चीजें खरीदना शुभ माना जाता है।
पुष्य नक्षत्र का समय
• पंचांग के अनुसार सोम पुष्य नक्षत्र १४ नवंबर दोपहर १.१५ बजे शुरू होकर १५ नवंबर शाम ४.१३ बजे समाप्त होगा।
क्या-क्या खरीदें
• इस दिन सोना या चांदी खरीदना काफी शुभ माना जाता है।
• सोना-चांदी नहीं खरीद सकते हैं, तो पीतल से बनी चीजें खरीद लें।
• इन्हें खरीदने से भी मां लक्ष्मी अति प्रसन्न होती हैं।
• इस दिन बहीखाता खरीदना भी शुभ माना जाता है।
• इस नक्षत्र में मंदिर, घर आदि का निर्माण भी शुभ माना जाता है।
• नए कार्यों की शुरुआत करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है।
• पुष्य नक्षत्र में नई दुकान, व्यापार भी शुरू कर सकते हैं।

अन्य समाचार