मुख्यपृष्ठनए समाचारजनवरी में जानलेवा ठंड! शीतलहर के साथ हार्ट अटैक का भी बढ़ा...

जनवरी में जानलेवा ठंड! शीतलहर के साथ हार्ट अटैक का भी बढ़ा खतरा

सामना संवाददाता / मुंबई

इन दिनों देशभर में शीतलहर का कहर देखने को मिल रहा है। जहां एक ओर ठंड से उत्तर भारत ठिठुर रहा है वहीं दूसरी ओर जनवरी की जानलेवा इस ठंड में हार्ट अटैक का खतरा भी बना हुआ है। सर्दी में मरीजों के दिल की धड़कन सामान्य गति से तेज चल रही है। प्राइवेट अस्पतालों में हृदय संंबंधी रोगियों की भरमार है। चिकित्सकों का कहना है कि अधिकांश हार्ट अटैक सुबह के समय आ रहे हैं। इनमें से अधिकांश को हाई ब्लड प्रेशर और सीने में दबाव की शिकायत है। चिकित्सक बुजुर्गों और अन्य को सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं।
बता दें कि सर्दियों का मौसम स्वास्थ्य के लिहाज से हेल्दी माना जाता है, लेकिन दिल के रोगियों के लिए यह मौसम ठीक नहीं है। कई विशेषज्ञों का मानना है कि गर्मियों में और सामान्य मौसम में दिल के रोगियों को कोई खास परेशानी नहीं होती, लेकिन सर्दियों में उन्हें ज्यादा तकलीफ होती है। सर्दी में जहां ऑक्सीजन की कमी रहती है, जिससे रक्त वाहनियां संकरी हो जाती हैं, इससे दिल के रोगियों की तकलीफ बढ़ जाती है। सर्दियों के मौसम में ब्लड प्रेशर सामान्य से कुछ ज्यादा रहता है, जो दिल के रोगियों के लिए परेशानी का सबसे बड़ा कारण है। जिन लोगों का कॉलेस्ट्रॉल बढ़ा रहता है, उनके लिए यह मौसम खासा खतरनाक होता है। दिल के मरीजों में घबराहट, हाई ब्लड प्रेशर, सीने में दबाव या जकड़न बढ़ जाती है।
क्यों बढ़ता है बीपी
सर्दियों में तापमान कम होने से रक्त वहनियां संकरी हो जाती हैं। संकरी शिराओं और धमनियों में रक्त के संचारण के लिए अधिक फोर्स की आवश्यकता होती है। इससे रक्तदाब बढ़ जाता है।
सर्दियों में शारीरिक सक्रियता कम हो जाती है। इससे भी रक्त का दाब बढ़ जाता है। रक्तदाब बढ़ने से स्ट्रोक, हार्ट अटैक और कार्डिक अरेस्ट का खतरा बढ़ जाता है।
सर्दियों में शरीर तापमान और ऊष्मा के स्तर को बनाए रखने के लिए रक्त के प्रवाह को रोकता है। इससे रक्त के संचरण के लिए अधिक फोर्स की जरूररत पड़ती है और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।
शरीर में अल्फा रिसेप्टर होते हैं, जो सर्दियों में अधिक सक्रिय हो जाते हैं, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।
सर्दियों में ब्लड प्रेशर को ऐसे करें नियंत्रित
मीठा, नमकीन और खट्टा कम खाएं।
सर्दियों में घर में दुबके न रहें, बल्कि धूप ल
हाई ब्लड प्रेशर से पीडि़त होने पर अधिक ठंड में सुबह के समय दवा लेकर ही बाहर निकलें।
आउटडोर गतिविधियां कम से कम करें।

अन्य समाचार