मुख्यपृष्ठसमाचारबिहार में मौत का खेल! १८२ दिनों में १,३०३ लोगों का मर्डर

बिहार में मौत का खेल! १८२ दिनों में १,३०३ लोगों का मर्डर

-अपराधी तय कर रहे मौत की तारीख
-हर दिन शूट कर फैला रहे हैं दहशत
सामना संवाददाता / पटना। बिहार में अपराधी मौत की तारीख तय कर रहे हैं। कब कहां किसे शूट कर दें, कोई भरोसा नहीं। कोई पुरानी अदावत में जान गवां रहा है तो कोई अपराध का विरोध करने पर मार दिया जा रहा है। रामनवमी पर भी अपराधियों का असलहा शांत नहीं हुआ और पालीगंज में दवा कारोबारी को मौत के घाट उतार दिया गया। बिहार में बढ़ रहे अपराध का ग्राफ कम कर पाने में नाकाम पुलिस को चुनौती पर चुनौती मिल रही है। आलम यह है कि महज १८२ दिनों में अपराधियों ने १,३०३ लोगों को मौत की नींद सुला दिया गया।
६६३ थानों में बहा खून
पुलिस मुख्यालय से मिली जानकारी में इस बात का उल्लेख है कि १८२ दिनों में ६६३ थानों में अपराधियों का खूनी खेल होता रहा। पुलिस के ही आंकड़ों की बात करें तो कोरोना की दूसरी लहर के बाद अचानक से बढ़े अपराध के ग्राफ सुरक्षा पर सवाल हैं। पुलिस के ही आंकड़े बता रहे हैं कि एक दिन में ७ मर्डर हुए हैं। फरवरी-मार्च और अप्रैल २०२२ में तो अपराध का ग्राफ तेजी से बढ़ गया। राजधानी पटना भी अशांत हो गई है।
अपराध में टॉप पर पटना
बिहार के ३८ जिलों में हुए मर्डर में पटना टॉप पर है। राजधानी में आए दिन हो रही घटनाएं सुरक्षा पर सवाल कर रही हैं। रामनवमी के दिन भी पालीगंज में अपराधियों की गोली से कारोबारी की जान गई है। पटना सिटी में एक माह में आधा दर्जन हत्या हुई है। बिहार पुलिस मुख्यालय से जो जानकारी दी गई है उसमें यह साफ किया गया है कि बिहार में हो रहे मर्डर में पटना टॉप पर है। पटना में सिटी का इलाका ऐसा है जहां पुलिस अपराधियों पर नकेल कसने में फेल हो रही है।
खतरनाक हुए बिहार के अपराधी
कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिहार में अपराध का ग्राफ तेजी से बढ़ गया है। पुलिस के आंकड़े इस बात की गवाही कर रहे हैं। इससे यह बात साफ है कि अपराधी कोरोना के संक्रमण से भी खतरनाक हो गए हैं। बिहार पुलिस ने मर्डर को जो आंकड़ा दिया है, वह काफी चौकाने वाला है। राज्य में बढ़े अपराध के ग्राफ को लेकर पटना हाईकोर्ट के अधिवक्ता मणिभूषण प्रताप सेंगर ने बिहार पुलिस से हत्या का पूरा डाटा मांगा था। इसके जवाब में बिहार पुलिस मुख्यालय ने बताया है कि बिहार में १,३०३ लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया है।

अन्य समाचार