मुख्यपृष्ठसमाचारकर्ज ने ली जान! केक काटकर पूरे परिवार ने की आत्महत्या

कर्ज ने ली जान! केक काटकर पूरे परिवार ने की आत्महत्या

  • सहकर्मी को फोन करके बोला हम सबको अगला जन्मदिन मुबारक हो

सामना संवाददाता / लखनऊ
राजधानी में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। जानकीपुरम विस्तार क्षेत्र में रहने वाले परिवार ने कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या कर ली है। केक काटने से पहले घर के मालिक ने अपने सहकर्मी को फोन करके बोला कि अब हम जी नहीं पाएंगे। हम सबको अगला जन्मदिन मुबारक हो। मरने वालों में पिता, मां और बेटी के नाम शैलेंद्र कुमार, गीता और प्राची हैं। बताया जा रहा है कि शैलेंद्र कुमार कर्ज में थे और बहुत दिनों से परेशान थे।
मिली जानकारी के अनुसार शैलेंद्र कुमार नलकूप  विभाग में जूनियर इंजीनियर पद पर तैनात थे। शैलेंद्र ने जब अपनी पत्नी और बेटी के साथ जहर खाया तो कुछ देर बाद पड़ोसियों को पता चल गया। पड़ोसी जब दीवार फांदकर घर में घुसे तो देखा कि सभी गैलरी में जमीन पर तड़प रहे थे। पड़ोसी उन सभी को अस्पताल ले जाने लगे। इसी बीच शैलेंद्र मना करने लगे कि उन्हें अस्पताल न ले जाया जाए। हालांकि पड़ोसी उन्हें अस्पताल ले गए। अस्पताल में शैलेंद्र और उनकी बेटी प्राची को मृत घोषित कर दिया गया। पत्नी गीता का इलाज शुरू किया गया लेकिन कुछ देर बाद उनकी भी मौत हो गई।
पुलिस की जांच में ये भी सामने आया है कि सुसाइड करने से पहले शैलेंद्र ने अपने ऑफिस में साथ काम करने वाले एक व्यक्ति को भी फोन मिलाया था। शैलेंद्र ने अपने सहकर्मी से कहा था कि वो अब जी नहीं पाएंगे और केक मंगाकर जन्मदिन मनाने जा रहे हैं। हालांकि ये बात उसको समझ नहीं आई और उसने पुलिस को फोन किया था, तब तक बहुत देर हो चुकी थी। इस मामले में पुलिस ने अभी तक चार लोगों को हिरासत में लिया है।
पुलिस ने अपनी शुरुआती जांच में पाया है कि तीनों को सुसाइड के लिए उकसाया गया। पुलिस के मुताबिक परिवार को प्रताड़ित किया गया और हिरासत में लिए गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। सुसाइड नोट में जिक्र है कि संजय कुमार (बदला हुआ नाम) ने चार साल पहले ६५ लाख रुपए का लोन कराया। साथ ही अहमद खान (बदला हुआ नाम) ने तीन साल पहले एक प्लॉट का एग्रीमेंट कराया था और २० फीसदी ब्याज पर १० लाख रुपए दिए और जब रुपए नहीं दे पाए तो परिवार को प्रताड़ित किया जाने लगा। पूरे परिवार को मारने की धमकी दी जाती थी। इसके अलावा पुलिस के हाथ एक और सुसाइड नोट लगा है, जिसमें किसी दूर के रिश्तेदार का नाम है। पुलिस दोनों सुसाइड नोट की हैंडराइटिंग की फॉरेंसिक जांच करवा रही है।

अन्य समाचार