मुख्यपृष्ठनए समाचारपांच साल की प्रतीक्षा के बाद शुरू हुआ डिलाइल पुल, शिवसेना के...

पांच साल की प्रतीक्षा के बाद शुरू हुआ डिलाइल पुल, शिवसेना के प्रयासों को मिली सफलता, वर्ष २०१८ से शुरू था निर्माण कार्य

सामना संवाददाता / मुंबई
बीते पांच सालों से लंबित लोअर परेल रेलवे स्टेशन के पास डिलाइल ब्रिज की पूर्व की ओर जानेवाली एक लेन को आखिरकार लंबी प्रतीक्षा के बाद कल से खोल दिया गया। इससे लोअर परेल, करी रोड इलाकों के निवासियों के साथ-साथ दक्षिण मुंबई की ओर जानेवाले वाहनचालकों के लिए एक बहुत बड़ी सुविधा हो गई है।
इस पुल के रुके हुए काम को गति देने के लिए शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने बार-बार तत्कालीन रेल मंत्री और मुंबई मनपा के साथ फॉलोअप किया था। इसके अलावा उन्होंने मनपा को चेतावनी भी दी थी कि इस पुल को गणेशोत्सव के पहले शुरू किया जाना चाहिए, नहीं तो हम नागरिकों के साथ इस ब्रिज को शुरू कर देंगे।

१३८ करोड़ खर्च, १५० साल की लाइफ
इस फ्लाईओवर की लाइफ कम से कम १३० से १५० साल है। इसमें रेलवे सीमा के दायरे में ८५ मीटर लंबाई के निर्माण के लिए मनपा ने रेलवे को फंड दिया है। इस पुल के लिए मनपा १३८ करोड़ रुपए खर्च कर रही है। इसके मजबूत निर्माण पर विशेष जोर दिया जा रहा है।

असुविधाजनक है क्योंकि वहां फुटपाथ, सीढ़ियां, बस स्टॉप नहीं हैं
लोअर परेल पुल पर फुटपाथ, सीढ़ियां, बस स्टॉप नहीं है। इस कारण स्थानीय लोग मनपा के प्रति नाराजगी जता रहे हैं। इस पृष्ठभूमि में शिवसेना की ओर से निवासियों को साथ लेकर विरोध प्रदर्शन के साथ-साथ हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया।

सरकार श्रेय लेने में जुटी
शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने चेतावनी दी थी कि डिलाइल पुल को गणेशोत्सव से पहले शुरू किया जाए, नहीं तो हम इसे शुरू कर देंगे। इसी पृष्ठभूमि में आज शिवसेना विधायक सुनील शिंदे ने मंडल की गणेश प्रतिमा को इस पुल से ले जाने की तैयारी शुरू कर दी। इसकी जानकारी मिलते ही पालकमंत्री दीपक केसरकर यहां पहुंचे और पुल का उद्घाटन कर श्रेय लेने का प्रयास किया।

अन्य समाचार