मुख्यपृष्ठनए समाचारअमावस्या काल में ज्यादा सक्रिय होती हैं आसुरी शक्तियां! ...योगी राज के...

अमावस्या काल में ज्यादा सक्रिय होती हैं आसुरी शक्तियां! …योगी राज के कैलेंडर में ‘अपराध अलर्ट’

पुलिस स्टेशनों को सतर्क रहने के निर्देश

सामना संवाददाता / लखनऊ
यूपी में बढ़ रहे अपराधों पर नियंत्रण करने के लिए अब पुलिस योगी ‘राज’ के कैलेंडर का सहारा लेगी। इस कैलेंडर में ‘अमावस्या काल’ की तलाश की जाएगी और अपराधियों को दबोचा जाएगा। इसकी वजह है कि अमावस्या के अंधेरे में अपराध करनेवाली आसुरी शक्तियां ज्यादा सक्रिय रहती हैं। इस बात का पता चलने पर प्रदेश के सभी पुलिस स्टेशनों को सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है।
मिली जानकारी के अनुसार, यूपी पुलिस प्रमुख ने इस संबंध में एक आदेश जारी किया है। इसके तहत पुलिस अधिकारियों को वैâलेंडर की तारीखों के अनुसार, अपराधों पर नजर रखने का निर्देश दिया गया है। इस बारे में पुलिस अधीक्षक विजय कुमार ने कहा, ‘राज्यभर में हुए अपराधों के रिकॉर्ड के अनुसार, अमावस्या से पहले वाले सप्ताह और उसके बाद वाले सप्ताह में अपराध दर अधिक होती है।’

अंधेरे में ज्यादा अपराध
पुलिस प्रमुख के सर्कुलर के अनुसार, अंधेरे में ज्यादा अपराध होते हैं। सर्कुलर में कहा गया है कि इस इनपुट का इस्तेमाल अपराध के हॉटस्पॉट की पहचान करने और पुलिस प्रणाली को और अधिक कुशल बनाने के लिए किया जाना चाहिए। राज्य पुलिस प्रमुख ने कहा है कि हॉटस्पॉट की पहचान के लिए इस वैâलेंडर का राज्य के हर पुलिस स्टेशन के स्तर तक पालन किया जाना चाहिए। रात में आपराधिक गतिविधियां ज्यादा होती हैं। हत्या, चोरी, सेंधमारी और महिलाओं के खिलाफ अपराध का जनता के दिमाग पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। नागरिकों को सुरक्षित महसूस कराने के लिए रात में कड़ी पुलिस निगरानी महत्वपूर्ण है।

अन्य समाचार