मुख्यपृष्ठनए समाचारभाजपा के दबाव में नहीं झुके देशमुख! ...जेल जाना स्वीकारा, पर विचारधारा...

भाजपा के दबाव में नहीं झुके देशमुख! …जेल जाना स्वीकारा, पर विचारधारा नहीं छोड़ी!-शरद पवार ने दिखाया गद्दारों को आईना

सामना संवाददाता / मुंबई
पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख ने जेल जाना स्वीकार किया, परंतु भाजपा के दबाव के आगे नहीं झुके, यह बात सोशल मीडिया पर पार्टी की ओर से आयोजित एक मीटिंग में राकांपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए शरद पवार ने गद्दारों को आईना दिखाया। उन्होंने कहा कि देशमुख ने जेल में १४ महीने बिताए। उन्हें जांच से बचाने के लिए भाजपा में शामिल होने के लिए दबाव डाला गया था, लेकिन उन्होंने अपनी विचारधारा नहीं छोड़ी और राकांपा नहीं छोड़ने के अपने फैसले पर अडिग रहे। पवार ने कहा कि अनिल देशमुख ने कोई अपराध नहीं किया है और कानून का सामना करने का  फैसला किया।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को महाराष्ट्र की जनता की समस्याओं पर ध्यान देना चाहिए। राज्य कई समस्याओं का सामना कर रहा है। लोग बेरोजगारी जैसी समस्या से जूझ रहे हैं, वहीं किसान भी पीड़ित हैं। शरद पवार ने कहा है कि हाल ही में हमारी पार्टी के कुछ लोग एजेंसियों की जांच के डर से एनडीए में शामिल हुए। उनमें से कई नेता प्रवर्तन निदेशालय की जांच के दायरे में थे और वे जांच का सामना करना नहीं चाहते थे, वहीं अनिल देशमुख ने भी दावा किया है कि अगर मैं भाजपा के दवाब में आकर राकांपा को छोड़ दिया होता तो मुझे जेल जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती।
बता दें कि हाल ही में अजीत पवार अपने समर्थक विधायकों के साथ महाराष्ट्र सरकार में शामिल हो गए थे। इसके बाद उन्होंने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ और उनके साथ आठ अन्य विधायकों ने भी जुलाई में मंत्री पद की शपथ ली थी।
…इसलिए राकांपा पूर्ण बहुमत में नहीं आई
दिलीप वलसे-पाटील का निजी सचिव से राज्यमंत्री तक का सफर शरद पवार के आशीर्वाद से ही था, लेकिन अजीत पवार के गुट में शामिल होते ही उन्होंने शरद पवार पर निशाना साधा। इसको लेकर मुझे आश्चर्य हो रहा है, ऐसा रोहित पवार ने कहा। मीडिया द्वारा पूछे गए एक सवाल के जवाब में रोहित पवार ने कहा कि शरद पवार के आसपास के लोगों ने अपनी जिम्मेदारियों का जिस तरह से निर्वहन करना चाहिए था, उस तरह से नहीं किया इसलिए राकांपा को कभी पूर्ण बहुमत नहीं मिला।

`यह आदमी प्रत्यक्ष अत्यंत कृतघ्न निकला!’
इस बीच राकांपा विधायक जितेंद्र आव्हाड ने भी ट्वीट करके दिलीप वलसे-पाटील की जमकर खिंचाई की है। इस वीडियो को देखा और वलसे-पाटील का नैतिक पतन देखकर दुख हुआ। शरद पवार का सबसे भरोसेमंद साथी, असल में बहुत कृतघ्न निकला। पवार की आंखों ने इस आदमी में यह गुण है, यह वैâसे उन्हें नहीं दिखाई दिया, यह आश्चर्य लग रहा है। अच्छा हुआ शरद पवार के लेकर उसके मन में जो जहर है, वह निकल रहा है। महाराष्ट्र की जनता इसे कभी नहीं भूलेगी और न माफ करेगी, आंबेगाव पाटील को सबक सिखाएगा, ऐसा आव्हाड ने अपने ट्वीट में कहा है।

अन्य समाचार