मुख्यपृष्ठनए समाचारजर्जर स्कूल की दीवार गिरी, बाल-बाल बची स्कूल में पढ़ने वाले 300...

जर्जर स्कूल की दीवार गिरी, बाल-बाल बची स्कूल में पढ़ने वाले 300 छात्रों की जान

  • मनपा ने शुरू की स्कूल इमारतों को जमींदोज करने की कार्रवाई, पहले ही दिया था नोटिस

सामना संवाददाता/भिवंडी

भिवंडी के नारपोली इलाके में संचालित उर्दू व इंग्लिश की दीवार सोमवार की दोपहर अचानक गिर गई। हालांकि, स्कूल द्वारा बच्चों को छुट्टी दिए जाने के कुछ देर बाद हुए इस हादसे के कारण स्कूल में पढ़ रहे 300 छात्रों की जान बाल-बाल बच गई। घटना की जानकारी मिलते ही मनपा प्रशासन ने स्कूल बिल्डिंग सहित बगल के एक अन्य इमारत को जमींदोज करने हेतु तोड़क कार्यवाई में जुट गए हैं।
नारपोली इलाके में रतन टाकीज के सामने 35 वर्ष पुरानी घर नंबर 683 के ग्राउंड प्लस वन बिल्डिंग में पिछले 21 वर्षों से इंग्लिश हाई स्कूल व उर्दू स्कूल चलाया जाता है, जिसमें तकरीबन 300 बच्चे शिक्षा ग्रहण करते है। मूसलाधार बारिश के कारण सोमवार की दोपहर 12 बजे स्कूल बिल्डिंग की एक दीवार जर्जर होने के कारण अचानक भरभराकर गिर गया।हालांकि, जिस समय यह हादसा हुआ उसके आधा घंटे पहले ही बारिश के कारण स्कूल की छुट्टी कर दी गई थी।जिसके कारण स्कूल में पढ़नेवाले 300 बच्चो की जान बच गई। हादसे की खबर मिलते ही प्रभाग समिति चार के सहायक आयुक्त गिरीश घोष्टेकर दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए और नवनियुक्त आयुक्त अजय वैद्य के आदेशानुसार पहले स्कूल का नल व बिजली कनेक्शन खंडित किया फिर जेसीबी लगाकर स्कूल बिल्डिंग के साथ बगल की एक और जर्जर बिल्डिंग पर तोड़कर कार्यवाई करने में जुट गए है। प्रभाग समिति चार के सहायक आयुक्त गिरीश घोष्टेकर ने बताया कि स्कूल के इस बिल्डिंग को पहले ही जर्जर घोषित कर उसे खाली करने की नोटिस प्रशासन द्वारा दी गई थी।

 

अन्य समाचार

विराट आउट

आपके तारे