मुख्यपृष्ठसमाज-संस्कृतिहिंदी पर हुई परिचर्चा

हिंदी पर हुई परिचर्चा

मुंबई। प्रांतीय राष्ट्रभाषा प्रचार सभा की ओर से भिवंडी तालुका के सुप्रसिद्ध वजे्रश्वरी मंदिर के समीप भाटिया सेनिटोरियम में आयोजित राष्ट्रभाषा प्रचार शिविर रविवार को संपन्न हुआ। इसमें कई कॉलेजों के हिंदी प्रोफेसर, स्कूलों के शिक्षक, संस्थाओं के प्रतिनिधि, हिंदी प्रचारक व हिंदीसेवी शामिल हुए। शिविर में दो सत्रों में हुई परिचर्चा में ‘राष्ट्रभाषा के प्रचार-प्रसार में हिंदी फिल्मों का योगदान’ और ‘राष्ट्रभाषा और रोजगार’ विषयों पर परिचर्चा हुई। मुख्य अतिथि शैलेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि हिंदी अब केवल भारत ही नहीं बल्कि विश्वभर में उपयोगी भाषा बनती जा रही है। इस अवसर पर हुए कवि सम्मेलन में डॉ. लालबहादुर यादव, प्रज्ञा आंब्रेकर, रवि यादव , वीरेंद्र यादव, स्पर्श देसाई और कमल यादव ने रंगारंग रचनाएं सुनाकर खूब समां बांधा। प्रो. डॉ. दिनेश गुप्ता ‘आनंदश्री’ ने प्राकृतिक थेरेपी से स्वस्थ रहने का अभ्यास शिविरार्थियों को कराया। कार्यक्रम के आयोजन में सत्येंद्र श्रीवास्तव, डॉ. लालबहादुर यादव, नितिन पाटील, राजकुमार तृषित आदि ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

अन्य समाचार