मुख्यपृष्ठनए समाचारआहार में गड़बड़ी दिल को दे रही दगा! १२ फीसदी की वृद्धि

आहार में गड़बड़ी दिल को दे रही दगा! १२ फीसदी की वृद्धि

सामना संवाददाता / मुंबई

आज के बदलते इस दौर और जीवनशैली में दिल का ख्याल रखना बेहद जरूरी हो गया है, क्योंकि आंकड़ों की मानें तो सबसे अधिक मौतें दिल का दौरा पड़ने की वजह से हो रही हैं। हृदय रोग वैश्विक स्तर पर मृत्यु के प्रमुख कारणों में से एक रहे हैं। आंकड़ों के मुताबिक, हर साल हृदय की तमाम बीमारियों के कारण लाखों लोगों की मौत हो जाती है। एक अन्य अध्ययन के मुताबिक, साल २०२२ में भारत में हार्ट अटैक के कारण होनेवाली मौतों के आंकड़ों में १२ फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है, साल-दर साल इस रोग का खतरा बढ़ता ही जा रहा है।
स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं कि हृदय रोगों के कई कारण हो सकते हैं। लाइफस्टाइल और आहार में गड़बड़ी के अलावा कोरोना महामारी के कारण भी इसका बढ़ा हुआ जोखिम देखा जा रहा है। अध्ययनकर्ता सभी उम्र के लोगों को इससे बचाव के लिए प्रयास करते रहने की सलाह देते हैं। इस बीच एक हालिया अध्ययन में वैज्ञानिकों ने विश्व के कुछ हिस्सों में हृदय रोगों और इसके कारण होनेवाली मौतों के खतरे को लेकर सभी लोगों को अलर्ट किया है। अध्ययनकर्ताओं का कहना है कि एशिया, यूरोप, अप्रâीका मध्य पूर्व में हृदय रोगों से होने वाली मौतों का सबसे जादा खतरा देखा जा रहा है।

कोविड के बाद हुए बदलाव भी हैं कारण

इस मामले में एक्सपर्ट की मानें तो उनका कहना है कि हिंदुस्थान में कोविड के बाद ब़ढ़ा वर्क प्रâॉम होम कल्चर भी इसका अहम कारण है। उन्होंने बताया कि कोविड ने हमारे काम करने की आदत में काफी बदलाव किया है, जिसकी वजह से हमारी लाइफस्टाइल में भी बदलाव आ गया है। यह बदलाव हमारे आपके हार्ट के लिए काफी नुकसानदायक साबित हो रहा है। साथ ही यह कनेक्शन कम उम्र के लोगों में भी दिख रहा है। ऐसे में इससे बचने के लिए सर्तकता जरूरी है।

अन्य समाचार