मुख्यपृष्ठटॉप समाचारनीतीश और कमलाबाई का तलाक!

नीतीश और कमलाबाई का तलाक!

सामना संवाददाता / पटना
बिहार में राजनीतिक समीकरण तेजी से बदल रहे हैं। लंबे समय से भाजपा के साथ सत्ता में काबिज नीतीश कुमार का भाजपा से मोहभंग हो गया है। मामला इतना गंभीर हो चुका है कि नीतीश और ‘कमलाबाई’ के बीच तलाक की खबर पक्की बताई जा रही है। बस औपचारिक घोषणा होनी बाकी रह गई है। वैसे नीतीश और भाजपा के बीच रिश्ते में खटास अभी नहीं आई है बल्कि पिछले कुछ महीने से दोनों के बीच मनमुटाव पैदा हो गए थे।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पिछले कुछ समय से भाजपा से नाराज हैं। इस बीच गठबंधन में दरार की खबरों के बीच आज जदयू के सभी विधायक और सांसदों की एक बैठक बुलाई है। जदयू का कहना है कि भाजपा पार्टी को तोड़ने की कोशिश कर रही है, जैसा कि उसने महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ किया था। इसके साथ ही कयास लगाए जा रहे हैं कि कमलाबाई के साथ तलाक के बाद नीतीश राजद के साथ सरकार बना सकते हैं। इसके पूर्व भी नीतीश राजद के साथ सरकार बना चुके हैं। हालांकि राजद का कहना है कि ये राज्य तय करेगा कि उसके लिए सबसे अच्छा क्या है। नीतीश की भाजपा से नाराजगी इसी बात से समझी जा सकती है कि वे रविवार को नीति आयोग की बैठक में शामिल नहीं हुए, जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री ने की थी। हालांकि इस बैठक में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी सहित २३ मुख्यमंत्रियों ने भाग लिया था। इसके पहले १७ जुलाई को नीतीश स्वतंत्रता दिवस समारोह को लेकर अमित शाह द्वारा बुलाई गई सीएम की बैठक में भी शामिल नहीं हुए। इससे पहले, मुख्यमंत्री देश की कोविड स्थिति पर पीएम मोदी द्वारा बुलाई गई सीएम की बैठक में शामिल नहीं हुए।

अन्य समाचार