मुख्यपृष्ठसमाचारबिहार में कुछ तो करो जनाब, कुर्सी `कुमार' दो जवाब!...विपक्ष के नेताओं...

बिहार में कुछ तो करो जनाब, कुर्सी `कुमार’ दो जवाब!…विपक्ष के नेताओं की नारेबाजी से गूंजा सदन

सामना संवाददाता / पटना । बिहार विधानसभा बजट सत्र की २२वीं बैठक से पहले विपक्ष ने कानून-व्यवस्था को लेकर जमकर हंगामा करते हुए सीएम नीतीश कुमार से राज्य में बढ़ते आपराधिक मामलों को लेकर जवाब देने की मांग की। आरजेडी विधायक विनय बिहारी ने कहा कि बिहार में कानून-व्यवस्था बिगड़ती जा रही है। अब बिहार में सब काम राम भरोसे चल रहा है। जिस तरह से नेताओं की हत्या हो रही है, सुरक्षा में चूक हो रही है उससे यह मालूम होता है कि बिहार में भ्रष्ट शासन चल रहा है। बिहार में हो रही हत्या और पुलिसिया कार्रवाई को लेकर विपक्ष के नेताओं ने नारेबाजी की। बिहार में बढ़ते अपराध पर राजद विधायक मुकेश रोशन विधानसभा परिसर में बैनर लेकर पहुंचे। राजद विधायक ने कहा कि पूरे बिहार में लॉ एंड ऑर्डर फेल हो गया है। राज्य के मुख्यमंत्री पर हमला हो जाता है। दानापुर में जदयू नेता की हत्या हो जाती है। राजद विधायक ने अपने बैनर पर लिखा था कि कुर्सी कुमार जवाब दो।
अपराधियों को सत्ता का संरक्षण प्राप्त
राजद विधायकों ने बिहार सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य में भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा पर है लेकिन सरकार की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। सीएम नीतीश कुमार अपनी सरकार बचाने में लगे है। उन्हें राज्य की जनता से कुछ लेना-देना नहीं है और अपराधियों को सत्ता का संरक्षण प्राप्त होने से राज्य में अपराध का ग्रॉफ बढ़ता जा रहा है।
हाईस्कूलों में वित्तीय गड़बड़ी
विधायक रामबली सिंह यादव ने सवाल उठाया कि सरकार के बार-बार आदेश के बाद भी हाईस्कूलों के प्रधानाध्यापक प्रबंधन समिति का गठन नहीं हो रहा है। हाईस्कूलों में व्यापक स्तर पर वित्तीय गड़बड़ी का भी आरोप लगाते हुए शिक्षा मंत्री से सवाल किया, क्या सरकार ऐसे प्राचार्यों पर कार्रवाई करने का विचार नहीं कर रही है। विधानसभा में कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को मुआवजा और अन्य सहायता देने का भी सवाल उठा। राजद विधायक समीर महासेठ ने सदन में कहा कि ११,००० बच्चों के द्वारा सरकार को आवेदन देने पर भी अभी तक सहायता मुहैया नहीं कराई गई।

 

अन्य समाचार