मुख्यपृष्ठनए समाचारचेन छीनते वक्त घसीटा : मां की हो गई थी मौत! ... बेटे...

चेन छीनते वक्त घसीटा : मां की हो गई थी मौत! … बेटे और परिजनों की गुहार

• आरोपियों को मिले मौत की सजा
सामना संवाददाता / मुंबई
सामना संवाददाता / मुंबई
छिनैती की घटनाएं अक्सर होती हैं लेकिन कई बार इतने खतरनाक साबित हो जाते हैं कि इंसान की जान पर बन आती है। ऐसे कई लोग हैं, जो इन घटनाओं में अपनी जान गंवा चुके हैं। ऐसी ही दर्दनाक छिनैती की घटना घाटकोपर की रहने वाली महिला के साथ हुई। महिला के साथ तीन चोरों ने चेन छीनने की वारदात को अंजाम दिया था। उस दौरान आरोपियों ने महिला के गले से चेन छीनते समय घसीटा था, जिससे उसके सिर में गंभीर चोटें आर्र्इं। महिला को अस्पताल में भर्ती किया गया था लेकिन मौत हो गई। उसके बाद परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ मामला पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाया था। पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया। अब उनके बेटे और परिजन आरोपियों को मौत की सजा देने की मांग कर रहे हैं।
मिली जानकारी के अनुसार पीड़िता सहाबाई उबाले सितंबर २०२० को हुई छिनैती की एक घटना में अपनी जान गवां चुकी हैं। उनके परिवार के सदस्‍यों का कहना है कि इस घटना में उनके सिर में गहरी चोट आई थी, जिसके चलते उनकी महज आठ दिनों के भीतर उनकी मौत हो गई। आरोपियों को पंतनगर पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया है। पीड़िता के बेटे भीमराव भालेराव ने बताया कि मेरी मां ने बहुत दर्द झेला है और अस्‍पताल में रहते हुए उनकी मौत हुई है। उनके गले से सोने की चेन छीनते वक्‍त आरोपी ने उन्‍हें सड़क पर घसीटा था। इससे उनके सिर पर कई गहरी चोटें आर्इं। मेरी मां को मारकर अपराधी वहां से भाग निकले। हमें अपनी मां से आखिरी बार बात तक करने का मौका नहीं मिला। इस घटना को महज छिनैती की घटना के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए, बल्कि यह हत्‍या का मामला है। इस जघन्‍य अपराध के लिए दोषियों को मौत की सजा दी जानी चाहिए।
गौरतलब है कि यह घटना छह सितंबर की है, जबकि इसके महज कुछ ही दिनों बाद १४ सितंबर को पीड़िता ने दम तोड़ दिया। पंतनगर पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से पहले ने गले से चेन खींचा था, दूसरा मोटरसाइकिल चला रहा था, तीसरा इन्‍हें भागने में मदद की थी और चौथे ने चेन को बेचने में इनका सहायक रहा।

अन्य समाचार