मुख्यपृष्ठनए समाचार‘कमाऊ पूत’ घटने से ड्रैगन परेशान!

‘कमाऊ पूत’ घटने से ड्रैगन परेशान!

शादीशुदा जोड़ों से पूछ रहे हैं अधिकारी
अब तक बच्चे की प्लानिंग क्यों नहीं की?
एजेंसी / बीजिंग
दुनिया की सबसे बड़ी आबादी वाला देश चीन इस समय ‘कमाऊ पूत’ घटने से परेशान है। चीन की औसत से अधिक आबादी ‘बूढ़ी हो चुकी है, जबकि उसके सख्त परिवार नियोजन की नीति के कारण नवयुवकों की संख्या काफी कम हो गई है। ऐसे में भविष्य में उन्नति बरकरार रखने के लिए नवयुवकों की भारी कमी महसूस कर रहा ड्रैगन विवाहित जोड़ों से ज्यादा बच्चे पैदा करने को कह रहा है। चीन के प्रशासनिक अधिकारी नए विवाहित जोड़ों से पूछते हैं कि बच्चे की प्लानिंग कब तक करोगे, तो वहीं जिनके बच्चे नहीं हैं या एक-दो बच्चे ही हैं उनसे कहते हैं कि बच्चे की प्लानिंग कब करोगे?
बता दें कि किसी देश की उन्नति में उसके कमाऊ पूत यानी काम करनेवाली युवा पीढ़ी का महत्वपूर्ण योगदान होता है, लेकिन विश्व की सबसे अधिक आबादी वाला देश चीन अपनी जनसंख्या घटने से चिंतित है। जनसंख्या के भारी दबाव से परेशान होकर चीन ने १९७० और ८० के दशक में परिवार नियोजन की नई नीतियों को लागू किया था। इससे जन्मदर पर विपरीत प्रभाव पड़ा। चीन का जन्म दर अब नकारात्मक होती जा रहा है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अभी हाल ही में कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक में घोषणा की कि देश बर्थ रेट को बढ़ावा देने के लिए एक नीति बनाएगा। चीन का स्थानीय प्रशासन अब नवविवाहित जोड़ों को फोन कर पूछ रहा है कि वे कब गर्भवती होंगी। चीन इन दिनों धीरे-धीरे अपनी जनसंख्या के घटने से कितना चिंतित है यह तब समझ आया जब यहां एक नव विवाहित महिला ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखा। इसमें उसने बताया कि क्षेत्रीय प्रशासन की ओर से उन्हें एक फोन आया था, जिसमें उनसे पूछा गया कि वे कब गर्भवती होंगी? खास बात ये है कि चीन में ऐसा अनुभव किसी एक महिला का नहीं है। चीन का स्थानीय प्रशासन अक्सर नव विवाहित जोड़ों को फोन करता है। एक नवविवाहित महिला ने अपनी सहकर्मी को आए ऐसे कॉल के बारे में बताया। फोन पर अधिकारी ने महिला से कहा कि सरकार चाहती है कि नवविवाहित एक साल के भीतर प्रेग्नेंट हों। अधिकारियों को बार- बार इस तरह के कॉल करने को कहा गया है। एक अन्य महिला ने बताया कि उसकी शादी बीते साल अगस्त में हुई थी और तब से उसे प्रेग्नेंट होने के लिए दो बार फोन आ चुका है। उसने बताया कि फोन पर अधिकारी उसे कहते हैं कि-आप शादीशुदा हैं तो अब तक बच्चे की प्लानिंग क्यों नहीं की? बच्चे को जन्म देने के लिए समय निकालें। गौरतलब हो कि ‘वर्ल्ड पापुलेशन प्रॉस्पेक्ट्स २०१९ के अनुसार चीन १.४४ अरब की आबादी के साथ पहले स्थान पर है, जबकि दूसरे स्थान पर भारत की आबादी १.३९ अरब है। दुनिया की कुल आबादी में चीन की १९ फीसदी और भारत की १८ फीसदी हिस्सेदारी है।

अन्य समाचार