मुख्यपृष्ठनए समाचारनल का नहीं, बिसलेरी का पानी पियो! ...ठाणे मनपा अधिकारियों की नागरिकों...

नल का नहीं, बिसलेरी का पानी पियो! …ठाणे मनपा अधिकारियों की नागरिकों को अजीब सलाह

सामना संवाददाता / ठाणे
ठाणे शहर के मध्य भाग में पिछले आठ-दस दिनों से पीने के पानी से दुर्गंध आ रही है, साथ ही पीले रंग का पानी आ रहा है। जब इस बात की शिकायत आम लोगों ने ठाणे मनपा से की तो अधिकारियों ने अजीब सलाह देते हुए कहा कि नल का नहीं, बिसलेरी का पानी पियो। अब इस बात को लेकर ठाणे मनपा की आलोचना हो रही है। बता दें कि ठाणे मनपा पिछले कई दिनों से प्रदूषित पानी आने की वजह तलाश रही है लेकिन लीकेज खोज पाने में ठाणे मनपा जलापूर्ति विभाग असफल रहा है।
पानी से लोग हो रहे बीमार
पिछले आठ से दस दिनों से ठाणे शहर के मध्य भाग में मौजूद उथलसर, कैसल मील, गोकुल नगर, डॉ. बाबासाहेब अंबेडकर रोड, कोर्ट नाका, पुलिस लाइन सहित अन्य क्षेत्रों में न केवल दूषित पानी की सप्लाई हो रही है बल्कि बदबू भी आ रही है। लोगों का कहना है कि पानी पीने की बात तो दूर, अन्य कार्यों में भी इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में स्थानीय लोगों द्वारा जलापूर्ति विभाग से शिकायत करने के बाद जलापूर्ति विभाग के कर्मचारी लीकेज का पता लगाने के लिए पिछले आठ दिनों से जगह-जगह खुदाई कर रहे हैं लेकिन अभी तक लीकेज का पता नहीं चल पाया है। जलापूर्ति विभाग का कहना है कि जब तक लीकेज का पता नहीं चल जाता, तब तक लोगों को नल के पानी के बजाय बिसलेरी का पानी पीना चाहिए। दूषित पानी के कारण शहर के कई नागरिक बीमार पड़ रहे हैं और वे पेट दर्द, बुखार, उल्टी-दस्त जैसी गंभीर बीमारियों से पीड़ित होने लगे हैं।

अन्य समाचार

लालमलाल!