मुख्यपृष्ठअपराधड्रग्स हुए डाउन; गांजे की गजब डिमांड! पिछले कई वर्षों से मांग...

ड्रग्स हुए डाउन; गांजे की गजब डिमांड! पिछले कई वर्षों से मांग में हो रही वृद्धि

  • ९१७ किलो गांजा किया गया जप्त
  • कुल ६६ तस्कर हो चुके हैं गिरफ्तार

सामना संवाददाता / ठाणे
ठाणे पुलिस आयुक्तालय अंतर्गत क्षेत्र में अब गांजे की गजब डिमांड महसूस की जा रही है। पुलिस की कार्रवाई से यह साफ हो गया है कि गांजे की सप्लाई में बढ़ोतरी हुई है। इसके अलावा कोकिन, एलएसडी तथा अन्य ड्रग्स की डिमांड गिरती नजर आ रही है।
ठाणे पुलिस आयुक्तालय द्वारा मिली जानकारी के अनुसार वर्ष २०२० में १ जनवरी से लेकर ३१ दिसंबर के दौरान कुल ९१७ किलो गांजा जप्त कर कुल ६६ तस्करों को गिरफ्तार किया गया था। इसकी कुल कीमत १, ७७, ७०, ६३० रुपए थी। वर्ष २०२१ में १ जनवरी से लेकर ३१ दिसंबर तक पुलिस की कार्रवाई में कुल ५६३ किलो गांजा जप्त कर ९० आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। इसकी कुल कीमत ९५,८०,६१७ रुपए थी। इसके अलावा इस वर्ष २०२२ में १ जनवरी से ३१ अगस्त के बीच ५३३ किलो ८०८ ग्राम गांजा जप्त करते हुए ५८ तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ठाणे पुलिस की कार्रवाई पर नजर डालें तो गांजे की डिमांड में वृद्धि हो रही है।
क्यों डिमांड में है गांजा?
ठाणे पुलिस द्वारा मिली जानकारी अनुसार गांजा एक ऐसा मादक पदार्थ है, जो आसानी से नशेड़ियों को मिल जाता हैं। साथ ही अन्य ड्रग्स को पाने के लिए नशेड़ियों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है इसलिए आसानी से मिल जानेवाले गांजे की डिमांड अन्य ड्रग्स की डिमांड से अधिक है।

अन्य समाचार