मुख्यपृष्ठअपराधचोरी में हिस्सेदारी को लेकर हुए विवाद में 2 दोस्तों ने मिलकर...

चोरी में हिस्सेदारी को लेकर हुए विवाद में 2 दोस्तों ने मिलकर की दोस्त की हत्या…पत्थर से चेहरे को कूंचा

– 2 हत्यारे हुए गिरफ्तार

सामना संवाददाता / भिवंडी

भिवंडी-कल्याण रोड पर स्थित साईबाबा मंदिर के पास जंगल में मिले 37 वर्षीय व्यक्ति के शव की गुत्थी को शांतिनगर पुलिस ने मात्र 6 घंटे में सुलझा लिया है। इस मामले में पुलिस ने दो हत्यारों को गिरफ्तार किया है, जो आपस में दोस्त थे। चोरी में बंटवारे को लेकर हुए विवाद में दोनों ने मिलकर न सिर्फ एक की हत्या कर दी, बल्कि मृतक की पहचान मिटाने के लिए मृतक के चेहरे को पत्थरों से कुचलकर बुरी तरह छतिग्रस्त कर दिए थे। दोस्ती में दगाबाजी की, इस घटना को लेकर लोग आश्चर्यचकित हैं।
शांतिनगर पुलिस स्टेशन में आयोजित एक पत्रकार परिषद में पुलिस निरीक्षक विनोद पाटील ने बताया कि सोमवार की सुबह करीब 10 बजे भिवंडी के टेमघर पाड़ा स्थित साई बाबा मंदिर के पीछे जंगल में एक 37 वर्षीय व्यक्ति का शव होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद मौके पर पहुंचकर शांतिनगर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम हेतु आईजीएम अस्पताल भेज दिया। इसके बाद पुलिस शव की शनाख्त में जुट गई। काफी जद्दोजहद के बाद पुलिस ने मृतक व्यक्ति की पहचान आकलेश जयसिंह चौहान (37) के रूप में की।
पुलिस ने उसके छोटे भाई निलेश चौहान की शिकायत पर अज्ञात हत्यारों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर उनकी तलाश में जुट गई। भिवंडी परिमंडल दो के पुलिस उपायुक्त श्रीकांत परोपकारी के निर्देश पर पूर्व विभाग के सहायक पुलिस आयुक्त सचिन सांगले और शांतिनगर पुलिस स्टेशन के वरिष्ट पुलिस निरीक्षक विनायक गायकवाड के मार्गदर्शन में एपीआई अतुल अडूरकर, पुलिस उपनिरीक्षक सुरेश घुघेे व उनकी टीम ने घटनास्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज व मुखबीर की सूचना के आधार पर पद्मनगर निवासी इकलाख अहमद अली अंसारी (38) व राम नारायण सितैसी चव्हाण उर्फ कल्लू (47) को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस द्वारा कड़ाई से पुछताछ पर आरोपियों ने हत्या की बात कबूल कर ली है। पुलिस निरीक्षक विनोद पाटील ने बताया की मृतक पेशेवर चोर था। हत्यारे व मृतक ने मिलकर एक ड्रायफ्रूट की दुकान में चोरी की वारदात को अंजाम दिया था, जिसमें हिस्सेदारी को लेकर तीनो में विवाद हो गया और दोनों हत्यारों ने मिलकर उसकी हत्या कर दी और शिनाख्त मिटाने के लिए चेहरे को पत्थरों से कुचल दिया था।

अन्य समाचार