मुख्यपृष्ठनए समाचारईडी के डर से ... अजीत पवार भाजपा में- शरद पवार का...

ईडी के डर से … अजीत पवार भाजपा में- शरद पवार का गंभीर आरोप

सामना संवाददाता / मुंबई
ईडी की कार्रवाई के डर से अजीत पवार और उनके साथी भाजपा के साथ चले गए। उन्होंने मुझसे भी भाजपा के साथ चलने का आग्रह किया था। यह गंभीर आरोप राकांपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने किया। एनसीपी की फूट पर पहली बार शरद पवार ने करारा जवाब देते हुए विरोधियों पर हमला बोला है। उन्होंने आरोप लगाया कि यह फूट भाजपा के कहने से हुई है। अजीत पवार गुट भाजपा के बहकावे में आ गया है। भाजपा ने कहा कि आप हमारे साथ आइए, नहीं तो ईडी आपके घर आ जाएगी। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी पर भी हमला बोला और कहा कि मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं, देश की जिम्मेदारी उनके कंधों पर है, लेकिन वह प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी और राजनीतिक जिम्मेदारी में अंतर नहीं समझ रहे हैं।
एनसीपी की विस्तारित कार्यकारिणी की बैठक कल दिल्ली में हुई। इस बैठक में मार्गदर्शन करते हुए शरद पवार ने पार्टी के अंदरूनी मामलों के साथ-साथ महाराष्ट्र और देश के राजनीतिक हालात पर भी अहम खुलासे किए। राज्य सरकार में मंत्री बनने से पहले आठ संबंधित नेता मेरे पास आए थे। हमारे पीछे बहुत सारी जांच चल रही हैं। आप इस समस्या से निकलने का रास्ता ढूंढिए। वह मुझसे कह रहे थे कि अगर हम भाजपा का समर्थन नहीं करेंगे तो हमें ईडी की जांच का सामना करना पड़ेगा। ईडी के डर से इन नेताओं ने मुझे छोड़ दिया, लेकिन अनिल देशमुख जैसे कुछ नेता जेल जाने के बाद भी पार्टी के प्रति वफादार रहे, शरद पवार ने भाजपा पर आरोप लगाया कि वह एनसीपी के लोगों को केंद्रीय जांच एजेंसियों का डर दिखाकर जोर-शोर से राजनीति कर रही है।
उन्होंने कहा कि केंद्रीय चुनाव आयोग के समक्ष कोई सुनवाई नहीं होने पर भी कुछ लोग राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष होने का दावा कर रहे हैं। शरद पवार ने आरोप लगाया कि कानून को नजरअंदाज कर गलत तरीकों से पार्टी पर कब्जा करने की कोशिश की जा रही है।

विपक्ष के खिलाफ कुछ नहीं मिलता है तो ईडी, सीबीआई का होता है गलत इस्तेमाल!
सामना संवाददाता / मुंबई
‘आम आदमी पार्टी’ के राज्यसभा सांसद संजय सिंह को गिरफ्तार किए जाने के बाद इंडिया अलायंस के घटक दल केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा पर केंद्रीय जांच एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगा रही हैं। राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने भी भाजपा को इस मसले पर घेरा है और कहा कि जनता उन्हें सबक सिखाएगी। दिल्ली में राकांपा द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि मुझे लगता है कि राजनीति में जब विपक्ष के खिलाफ कुछ मिलता नहीं तो फिर ईडी और सीबीआई जैसी एजेंसियों का गलत इस्तेमाल किया जाता है। इस बात को लेकर लोग कभी न कभी सबक सिखाएंगे। शराब घोटाले में नाम आने के बाद ईडी ने संजय सिंह के आवास पर बुधवार को छापेमारी की थी और फिर देर शाम उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद से विभिन्न राजनीतिक दलों की प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गईं।
‘इंडिया’ गठबंधन होगा मजबूत
शरद पवार ने कहा कि संजय सिंह की गिरफ्तारी से आगे ‘इंडिया’ गठबंधन और मजबूत होगा। उधर, जिस वक्त संजय सिंह की गिरफ्तारी हुई, उससे जुड़ा वीडियो भी सोशल मीडिया पर सामने आया, जिसमें वह अपनी मां से आशीर्वाद लेते हुए दिखे, वहीं इस घटनाक्रम पर संजय सिंह के पिता ने कहा कि मैंने अपने बेटे से कहा है कि वह चिंता न करे, यह सकारात्मक परिणाम लेकर आएगा और इससे सरकार बदल जाएगी, जबकि उनकी पत्नी ने आरोप लगाए कि ईडी को जांच के दौरान कुछ नहीं मिला और बिना किसी आधार के ही गिरफ्तार कर लिया गया है।

 

अन्य समाचार