मुख्यपृष्ठनए समाचारमनपा की अनदेखी से बिलख रहा शिव योग केंद्र...योग सीखने वालों की...

मनपा की अनदेखी से बिलख रहा शिव योग केंद्र…योग सीखने वालों की नहीं बढ़ रही संख्या

-रोजाना केंद्रों में आ रहे करीब छह हजार लोग

धीरेंद्र उपाध्याय / मुंबई

जीवनशैली में बदलाव के कारण तेजी से पैâल रही कई तरह की गंभीर बीमारियों को रोकने के लिए महाविकास आघाड़ी के कार्यकाल में शुरू किया गया शिव योग केंद्र मनपा की अनदेखी से बिलख रहा है। शिव योग केंद्रों का समुचित तरीके से ध्यान न दिए जाने से यहां योग सीखने आनेवाले लोगों की संख्या में खासा वृद्धि नहीं हो रही है। मनपा स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, इन केंद्रों में करीब छह हजार लोग रोजाना आ रहे हैं। यह संख्या योजना की शुरुआत के दिनों से ही है, जो उसी पर बरकरार है।
बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की पहल के तहत शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक, सामाजिक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य को भी महत्व दिया है। वर्तमान समय में दैनिक कामकाज की भागदौड़ और तनाव के कारण मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हृदय विकार और अवसाद जैसी बीमारियों की संख्या बढ़ती जा रही है। इसे रोकने के लिए महाविकास आघाड़ी सरकार के कार्यकाल में मार्च २०२२ के मनपा बजट में शिव योग केंद्र शुरू करने के लिए ३०० करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था। इसके तहत २०० योग केंद्र शुरू करने की योजना थी। हालांकि, इसके बाद मविआ की सत्ता चली गई और गद्दारी करके शिंदे सरकार अस्तित्व में आई। इस सरकार के कार्यकाल में स्वास्थ्य विभाग ने मुंबई में शिव योग केंद्र शुरू कर दिए। योजना के शुरुआत में इसे नागरिकों का जोरदार प्रतिसाद मिला। नागरिकों के मिल रहे प्रतिसाद को देखते हुए मनपा ने अपने २४ प्रभागों में कुल १३१ शिव योग केंद्र शुरू किए। हालांकि, इसके बाद मनपा की अनदेखी के कारण शिव योग केंद्र को नागरिकों का अपेक्षित प्रतिसाद नहीं मिल रहा है।
इस साल बजट में नहीं प्रावधान
साल २०२२-२३ में मविआ सरकार के निर्देश पर मनपा ने शिव आरोग्य केंद्र के लिए ३०० करोड़ रुपए का प्रावधान किया था। हालांकि, शिंदे सरकार के आने के बाद साल २०२३-२४ के मनपा बजट में योजना के लिए महज पांच करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया। चौंकानेवाली बात यह है कि २०२४-२५ के बजट में एक रुपए का प्रावधान नहीं किया गया है। इससे यह साफ हो गया है कि मविआ सरकार की इस योजना और जनता के स्वास्थ्य को लेकर मौजूदा सरकार कितनी गंभीर है।
इन स्थानों पर शुरू हैं केंद्र
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक शिव योग केंद्र सार्वजनिक हॉल, निजी स्कूलों के हॉल, शादी हॉल जैसे सार्वजनिक स्थलों पर योग केंद्र चलाए जा रहे हैं। चयनित स्थान पर साधन सामग्री, टीवी जैसे उपकरण मनपा की ओर से उपलब्ध कराए गए हैं। निपुण शिक्षकों की मदद से शिव योग केंद्रों पर ऑनलाइन योग का भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है।
रोगों के कंट्रोल में आने का दावा
मनपा स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त कार्यकारी अधिकारी डॉ. दक्षा शाह ने कहा कि शिव योग केंद्र से मुंबईकरों को बहुत ज्यादा लाभ हो रहा है। इस केंद्र में योग सीखने आने वाले लोग कह रहे हैं कि उनकी हाइपरटेंशन, डायबिटीज और मोटापा कम हुआ है। इसके साथ ही कई लोगों ने कहा कि वे काफी समय से निराशा से जूझ रहे थे, लेकिन योग ने उनकी यह समस्या दूर की है।

अन्य समाचार