मुख्यपृष्ठनए समाचारप्रशासन की मनमानी के चलते मनपा को लगा लाखों का फटका! ...बिना...

प्रशासन की मनमानी के चलते मनपा को लगा लाखों का फटका! …बिना शुल्क के 132 दिनों के लिए एक निजी संस्था को दे दिया गया सुभाषचंद्र बोस मैदान

अमर झा / भायंदर

भायंदर-पश्चिम का इकलौता सुभाषचंद्र बोस खेल के मैदान को एक निजी संस्था को लंबे समय तक नि:शुल्क इस्तेमाल करने का देने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले को लेकर स्थानीय खिलाड़ियों में रोष व्याप्त है। मैदान को नि:शुल्क इस्तेमाल करने की अनुमति देने के कारण मनपा तिजोरी को कई लाख के फटके लगे हैं।
ज्ञात हो कि भायंदर-पश्चिम में प्रभाग क्रमांक-1 अंतर्गत मनपा का एकमात्र बड़ा मैदान सुभाषचंद्र बोस मैदान है, जहां हर दिन हजारों की संख्या में लोग खेलने, घूमने, टहलने या वॉकिंग के लिए आते हैं। इस मैदान को मनपा के पूर्व आयुक्त दिलीप ढोले ने मनमानी करते हुए एक निजी संस्था को करीब 132 दिनों के लिए मुफ्त में इस्तेमाल करने और क्रिकेट स्पर्धा के आयोजन के लिए दिया है। मामलों को उजागर करने वाले आरटीआई कार्यकर्ता कृष्णा गुप्ता ने मनपा प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि खेल के मैदान को नियम की अनदेखी करके एक संस्था को इतने दिनों तक मुफ्त में दिया गया, जबकि महाराष्ट्र प्रादेशिक नियोजन व नगररचना अधिनियम 37 (अ) के अनुसार कोई भी मैदान किसी संस्था, संघ, व्यक्ति आदि को 12 दिन से अधिक नहीं दिया जा सकता। किराए पर भी सिर्फ 30 दिन के लिए ही दिया जा सकता है। इसके बावजूद नियमों को ताक पर रख कर सुभाषचंद्र बोस मैदान को मुफ्त में देने वालों पर कार्रवाई और संबंधित कंपनी से दंड सहित किराया वसूल करने की मांग कृष्णा ने मनपा आयुक्त-प्रशासक संजय काटकर से की है।
क्या है पूरा प्रकरण…
सर्वप्रथम शहर अभियंता दीपक खांबित की शिफारिस पर तत्कालीन मनपा आयुक्त -प्रशासक दिलीप ढोले ने मीरा-भायंदर मनपा के संयुक्त तत्वावधान से मे.मैजेस्टिक लिजेंड्स स्पोर्ट्स नामक निजी कंपनी को रोड सेफ्टी सेलिब्रिटी क्रिकेट मैच (RSCCM) के लिए सुभाषचंद्र बोस मैदान को 30 मई से 20 जून 2023 तक के लिए मुफ्त में उपलब्ध कराने तथा पानी, बिजली भी मुफ्त उपलब्ध कराने का प्रशासकीय प्रस्ताव पारित किया था।
बदल दिया गया कंपनी का नाम
जबकि प्रभाग 1 की सहायक आयुक्त व प्रभाग अधिकारी कंचन गायकवाड ने मे. मैजेस्टिक लिजेंड्स स्पोर्ट्स की बजाए मे.रॉयल जेनुनस स्पोर्ट्स प्रा.लि.नामक कंपनी को 30 मई से 20 जून और इसके बाद क्रमशः 21 जून से 2 जुलाई, 3 से 18 जुलाई, 19 जुलाई से 13 अगस्त और 13 अगस्त से 9 अक्टूबर 2023 तक के लिए मुफ्त उपलब्ध करा दी।

तत्कालीन आयुक्त-प्रशासक की अनुमति से ही सुभाषचंद्र बोस मैदान उक्त कंपनी को क्रिकेट मैच के आयोजन के लिए दी गई है
-कंचन गायकवाड, सहायक आयुक्त, प्रभाग अधिकारी, प्रभाग-1, MBMC

किसी बड़े भ्रष्टाचार को इंगित करती है…
प्रस्ताव की प्रति पर 30 अप्रैल 2023 अंकित है, जबकि उस प्रस्ताव पर हस्ताक्षर करने वाले शहर अभियंता दीपक खांबित, उपायुक्त मुख्यालय मारुति गायकवाड और अंत में तत्कालीन आयुक्त दिलीप ढोले के हस्ताक्षर के नीचे 20 अप्रैल 2023 अंकित है, जो कि किसी बड़े भ्रष्टाचार को इंगित करती है।

अन्य समाचार