मुख्यपृष्ठनए समाचारमंडल आयोग आंदोलन के दौरान ‘कमंडल' के पक्ष में थे भुजबल!

मंडल आयोग आंदोलन के दौरान ‘कमंडल’ के पक्ष में थे भुजबल!

सामना संवाददाता / मुंबई

प्रकाश आंबेडकर ने लगाया आरोप

वंचित बहुजन आघाड़ी (वीबीए) के नेता प्रकाश आंबेडकर ने आरोप लगाया कि छगन भुजबल जैसे अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के नेता मंडल आयोग आंदोलन के दौरान ‘कमंडल’ के पक्ष में थे और उन्होंने आयोग की सिफारिशों का विरोध किया था। बी.आर. आंबेडकर के पोते प्रकाश आंबेडकर ने यहां संविधान सम्मान रैली में कहा, ‘भुजबल या प्रकाश शेंडगे जैसे मौजूदा ओबीसी नेताओं को मेरे रास्ते में नहीं आना चाहिए। आप मंडल आयोग की सिफारिशों को लागू करने की मांग का विरोध करते हुए कमंडल (१९९० के दशक की हिंदुत्व की राजनीति के लिए इस्तेमाल किया जानेवाला शब्द) के साथ थे।’ आंबेडकर की ये टिप्पणियां अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) समूह के तहत सरकारी नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण की मांग को लेकर कार्यकर्ता मनोज जरागे के नेतृत्व में मराठा समुदाय के विरोध प्रदर्शन की पृष्ठभूमि में आई हैं। अजीत पवार गुट के वरिष्ठ नेता और कैबिनेट मंत्री छगन भुजबल समेत अन्य ओबीसी नेताओं ने इस मांग का विरोध किया है।

अन्य समाचार