मुख्यपृष्ठनए समाचारईयर फोन कर देगा बहरा! कोरोना काल में बढ़ा इस्तेमाल

ईयर फोन कर देगा बहरा! कोरोना काल में बढ़ा इस्तेमाल

  • डॉक्टर्स ने दी संयम बरतने की सलाह

सामना संवाददाता / ठाणे
आजकल का युवा वर्ग मोबाइल और उससे जुड़े उपकरणों का अधिक इस्तेमाल कर रहा है। यही वजह है कि युवा वर्ग विभिन्न प्रकार की बीमारियों से घिरता जा रहा है। एक ओर मोबाइल के कारण युवाओं को नींद न आने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, वहीं ईयर फोन का अत्याधिक इस्तेमाल करने से युवाओं पर बहरा होने का खतरा मंडरा रहा है। कोरोना काल में घर से ही ऑनलाइन मीटिंग अटेंड करने के लिए आम लोगों को ईयर फोन का अधिक इस्तेमाल करना पड़ा था। ईएनटी सर्जन ने आम लोगों को ईयर फोन का इस्तेमाल अधिक न करने की हिदायत दी है क्योंकि इससे आम नागरिकों को बहरेपन का सामना करना पड़ सकता है।
बता दें कि आजकल यूट्यूब, वेबसीरीज, फिल्में और पसंदीदा गाने व सोशल मीडिया आदि के इस्तेमाल के लिए ईयर फोन का अधिक इस्तेमाल किया जाता है। ईयर फोन की बढ़ती मांग को देखते हुए विभिन्न कंपनियों द्वारा तेज आवाज के ईयर फोन और ब्लूटूथ को बाजार में उतारा जा रहा है। यही ईयर फोन आम नागरिकों को बहरा बना सकते हैं। ईएनटी (कान-नाक-गला विशेष) सर्जन का कहना है कि ईयर फोन का इस्तेमाल युवाओं द्वारा अधिक होता है। कोरोना काल में ऑनलाइन शिक्षा, वर्क फ्रॉम होम के कारण ईयर फोन का उपयोग करने की दर में वृद्धि हुई है। कोरोना के बाद भी यही स्थिति बनी हुई है। ईयर फोन के ज्यादा इस्तेमाल से बहरापन हो सकता है। कभी-कभी यह बहरापन स्थायी हो सकता है। इसलिए ईएनटी सर्जनों ने सलाह दी है कि इसका उपयोग सीमित होना चाहिए। ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. माधवी पंढारे ने बताया कि ईयर फोन की आवाज सीधे कान के भीतर मौजूद पर्दों पर पड़ती है। सामान्य तौर पर सुनी जानेवाली आवाज कान के पर्दों को उतना आहत नहीं करती, जितना ईयर फोन की आवाज करती है। ईयर फोन साफ न करने की वजह से कान में विभिन्न प्रकार के इंफेक्शन हो सकते हैं, जो आम इंसान को बहरा बना सकते हैं।
दिन में कितना करें इस्तेमाल?
दिन भर में कम से कम ईयर फोन का इस्तेमाल करने की जरूरत है। क्योंकि सामान्य तौर पर आवाज सुनने से कानों के पर्दों पर कम असर पड़ता है। कम आवाज में लगभग ३ घंटे तक आम नागरिक ईयर फोन का इस्तेमाल कर सकते हैं।
आवाज कितनी हो?
ईयर फोन की ध्वनि ६० से ७० डेसिबल के बीच होनी चाहिए। इससे तेज आवाज सीधे कान के पर्दों पर पड़ने से बहरापन हो सकता है। ईयर फोन की आवाज कम कर बहरा होने से बचा जा सकता है।

अन्य समाचार