मुख्यपृष्ठसमाचारमंगल पर भूकंप!... वैज्ञानिकों का दावा ४७ बार आया भूकंप

मंगल पर भूकंप!… वैज्ञानिकों का दावा ४७ बार आया भूकंप

दुनियाभर के वैज्ञानिक मंगल ग्रह पर जीवन की तलाश कर रहे हैं। शोध के दौरान वैज्ञानिक आए दिन नए-नए खुलासे करते हैं। अब वैज्ञानिकों ने मंगल ग्रह पर हैरान करनेवाली गतिविधि देखी है। उनका कहना है कि मंगल ग्रह पर रहस्यमयी भूकंप आ रहे हैं। हालांकि मंगल ग्रह पर भूकंप तो पहले भी आते रहे हैं लेकिन इस बार बहुत जल्दी-जल्दी भूकंप आ रहे हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि इनकी तीव्रता भी ज्यादा है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इन गतिविधियों से साफ है कि मंग्रल ग्रह अभी निष्क्रिय नहीं हुआ है। मंगल ग्रह के अंदर लगातार घरघराहट देखी जा रही है। मंगल पर भूकंप की घटनाएं बढ़ गई हैं।
ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी के जियोफिजिसिस्ट हरवोए कालसिक का कहना है कि मंगल ग्रह के मैंटल को समझना बेहद जरूरी है। उनका कहना है कि मैंटल को समझने के बाद ही यह जानकारी मिल पाएगी कि मंगल पर इतने ज्यादा भूकंप की घटनाएं क्यों हो रही हैं? इसके अलावा सौर मंडल में ग्रह कैसे बने हैं?
हरवोए कालसिक और जियोफिजिसिस्ट वीजिया सुन ने मंगल ग्रह के इनसाइट द्वारा लिए डेटा और अलग डेटा की स्टडी की है। गैर-पारंपरिक तरह से दोनों ने इनकी गणना की है। मंगल ग्रह पर आनेवाले भूकंप को मार्सक्वेक कहा जाता है। इन दोनों वैज्ञानिकों ने ४७ बार आए भूकंप की गतिविधियों की स्टडी की है। जोड़ा का मतलब होता है भूकंप की लहर एक तरफ से आए और वापस लौट जाए।

अन्य समाचार