मुख्यपृष्ठग्लैमरनून-तेल-शक्कर खाएं संभल कर!-अनुप्रिया कपूर

नून-तेल-शक्कर खाएं संभल कर!-अनुप्रिया कपूर

स्टार प्लस के धारावाहिक ‘तेरे लिए’ की तानी बनर्जी के रूप में गजब की लोकप्रियता हासिल कर चुकी अभिनेत्री व मॉडल अनुप्रिया कपूर का जन्म २६ नवंबर १९९१ को पंजाब में हुआ। सोशल मीडिया के जरिए अपने प्रशंसकों के साथ अक्सर अपने फिटनेस आइडियाज शेयर करनेवाली अनुप्रिया का मानना है कि स्वस्थ तन-मन और जीवन के लिए नियमित व्यायाम करना बहुत जरूरी है।
 अनुप्रिया कपूर के स्वस्थ तन-मन और जीवन का मूल-मंत्र
स्कूल में पढ़ाई के साथ-साथ सांस्कृतिक गतिविधियों में बेहद मेधावी रही अनुप्रिया कपूर ने दिल्ली विश्वविद्यालय से पॉलिटिकल साइंस में ग्रेजुएशन करने के बाद रियलिटी शो ‘वॉइस ऑफ इंडिया’ में हिस्सा लेने के लिए अपने भाई व्योम कपूर के साथ २०१० में मुंबई का रुख किया। इसी साल उन्होंने धारावाहिक ‘मिले जब हम तुम’ से टीवी की दुनिया में अभिनय यात्रा शुरू की, लेकिन २०११ में धारावाहिक ‘तेरे लिए’ से उन्हें मनचाही ख्याति मिली। अनुप्रिया ने ‘सेवन’, ‘ये है आशिकी’, ‘हल्ला बोल’, ‘वॉरियर हाई’, ‘कोड रेड’ और ‘भाग्यलक्ष्मी’ जैसे धारावाहिकों में उल्लेखनीय काम किया। उन्हें २०१० में इंडियन टेली अवॉर्ड्स और इंडियन टेलीविजन अकादमी अवॉर्ड्स से सम्मानित किया गया। फिलहाल, वे अपने घर-परिवार और बेकरी के कारोबार को संभालने में ज्यादा व्यस्त रहती हैं।
 व्यायाम को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं
अनुप्रिया कपूर का कहना है कि शरीर, मस्तिष्क और स्वस्थ जीवन के लिए व्यायाम करना बेहद जरूरी है इसलिए व्यायाम को दिनचर्या का हिस्सा बनाना बेहद जरूरी है। हालांकि, ज्यादा व्यायाम करने से बचना चाहिए। अनुप्रिया सप्ताह में पांच दिन जिम करती हैं, जिसमें से चार दिन वे कार्डियो एक्सरसाइज करती हैं और एक दिन ऊपरी और निचले शरीर के लिए स्ट्रेंथ एक्सरसाइज करती हैं। सप्ताह में दो दिन वह खुले स्थान में जॉगिंग, रनिंग जैसी गतिविधियां करती हैं। अपने मन को प्रसन्न बनाए रखने के लिए योग अभ्यास भी करती हैं। बकौल अनुप्रिया कपूर, ‘सकारात्मक सोच के लिए योग और प्राणायाम करना जरूरी है।’
 जीवन का अमृत है आहार
अनुप्रिया खाने की शौकीन हैं, लेकिन अनाप- शनाप खाने के बजाय स्वस्थ व स्वादिष्ट भोजन को महत्व देती हैं। उनका मानना है कि भोजन जीवन का अमृत है। सही भोजन करने से प्रेरणा मिलती है, दिमाग स्वस्थ और मन प्रसन्न रहता है। अनुप्रिया का मानना है कि भोजन में तेल, मसाला, शक्कर और नून (नमक) की सीमित मात्रा बेहद जरूरी है। अनुप्रिया दिन में छह-सात छोटी-छोटी खुराकों में अपना भोजन करती हैं। शरीर में नमी बनाए रखने के लिए पानी और फलों का रस पीती हैं। हर हाल में रात आठ बजे से पहले डिनर करती हैं। उनकी सलाह है कि किसी भी व्यक्ति को एक ही बार में भरपेट भोजन करने से परहेज करना चाहिए।
 भारतीय व्यंजनों से लगाव
अनुप्रिया को भारतीय और इतालवी भोजन पसंद है। वो नाश्ते में अक्सर फ्रूट जूस; विशेषकर कैनबेरी जूस, जर्दी रहित चार अंडों के साथ टोस्ट का सेवन करती हैं। कभी-कभार दलिया खाती हैं। दोपहर के भोजन में दाल, चावल, सलाद, दही, सब्जियों और चिकन का समावेश होता है। रात को डिनर में अंडा और सूप लेना पसंद है। अनुप्रिया एक बेहतरीन बेकर हैं। उनकी अपनी एक बेकरी है। उन्हें चॉकलेट केक और ब्राउनी बेहद पसंद है। आलू टिक्की, राजमा चावल, छोला भटूरा, सेब, गाजर का हलवा और चिकन टिक्का के साथ-साथ उन्हें दुबई की पारंपरिक खबूस रोटी बेहद पसंद है।

अन्य समाचार