मुख्यपृष्ठनए समाचारबीकेसी की दहशरा रैली पर होने वाले करोड़ों रुपए खर्च की ईडी...

बीकेसी की दहशरा रैली पर होने वाले करोड़ों रुपए खर्च की ईडी करे जांच!

• कहां से आए दस करोड़!
• कांग्रेस प्रवक्ता अतुल लोंढ़े का सवाल

सामना संवाददाता / मुंबई
दशहरा सम्मेलन में भीड़ जुटाने के लिए एकनाथ शिंदे राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से एसटी व निजी बसों से कार्यकर्ताओं को रैली में ला रहे है। इसके लिए एस टी महामंडल के पास दस करोड़ रुपए नकद भरे गए। शिंदे गुट के पास इतनी बड़ी राशि कहां से आई? उनको यह राशि किसने दी? इतनी बड़ी राशि का नकद व्यवहार किया जाता है क्या? क्या यह मनी लॉन्ड्रिंग नहीं है? इस लेन-देन सहित सम्मेलन के लिए हुए पूरे खर्च की ‘ईडी’ व आयकर विभाग द्वारा जांच कराई जाए, ऐसी मांग महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मुख्य प्रवक्ता अतुल लोंढे ने की है।
दशहरा रैली पर होनेवाले खर्च पर सवाल उठाते हुए अतुल लोंढे ने कहा कि सम्मेलन में शक्ति प्रदर्शन करने के लिए राज्यभर की बसों से लोगों को लाया जा रहा है। सम्मेलन को सफल बनाने के लिए सभी नियम-कानून ताक पर रख दिए गए हैं। विशेषकर दशहरा सम्मेलन के लिए एस टी बुक करते समय शिंदे गुट ने १० करोड़ रुपए नकद दिया है, यह राशि पार्टी के खाते से दी है क्या? यह राशि कहां से आई? १० करोड़ रुपए का नकद में व्यवहार वैâसे किया? दो लाख भोजन का पैकेट तैयार किया गया है, इसके लिए करोड़ों रुपए खर्च किसने किया? दस करोड़ रुपए गिनने में दो दिन लगे, यह खबर प्रसारित की गई है। शिंदे की पार्टी अधिकृत रूप से पंजीकृत भी नहीं हुई है, फिर यह पैसा किसके खाते से आया, यह मनी लॉन्ड्रिंग नहीं है क्या? इसकी जांच की आवश्यकता है। उन्होंने कहा है कि ईडी व आयकर विभाग इस मामले में हस्तक्षेप करके जांच करें। अगर जांच में टाल मटोल किया गया तो कांग्रेस पार्टी की ओर से हम ईडी व आयकर विभाग के पास शिकायत करेंगे।

अन्य समाचार