मुख्यपृष्ठअपराध`अग्निपथ' का असर : डिप्रेशन में आकर युवक ने लगाई फांसी!

`अग्निपथ’ का असर : डिप्रेशन में आकर युवक ने लगाई फांसी!

रमेश सर्राफ / झुंझुनू
अग्निपथ योजना से १९ साल का युवक इतना डिप्रेशन में आ गया कि उसने फांसी लगाकर जान दे दी। मृतक अंकित के परिजनों ने बताया कि वो सेना में भर्ती की तैयारी कर रहा था लेकिन जब से नई पॉलिसी का एनाउंसमेंट हुआ है, तब से वह परेशान रहने लगा था। परिजनों द्वारा थाने में दी गई शिकायत में भी सुसाइड का यही कारण बताया है। मामला राजस्थान में झुंझुनू जिले के चिड़ावा शहर का है। यहां स्टेशन रोड पर रहने वाले अंकित ने अपनी बहन पूनम (२३) के घर सुसाइड कर लिया। दोनों झुंझुनू जिले के कोलसिया की नेहरा की ढाणी के रहने वाले हैं। पूनम झांझोत के सरकारी स्कूल में एलडीसी के पद पर कार्यरत है। मृतक के परिजनों ने बताया कि अंकित सोमवार को ही अपने ननिहाल भोड़की से बहन पूनम के यहां गया था। मंगलवार को योग दिवस के कार्यक्रम के चलते वह स्कूल गई थी। सुबह करीब ८ बजे अंकित ने कमरे में पंखे से फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। सूचना के बाद जब पूनम घर पहुंची तो फंदे से लटके भाई का शव देख बेहोश हो गई। अंकित श्रद्धानाथ कॉलेज गुढ़ागौड़जी में बीए सेकेंड ईयर का स्टूडेंट था। अंकित के पिता की रीढ़ की हड्डी में दिक्कत होने की वजह से बिस्तर से उठ नहीं सकते हैं। उनका घर खेती-किसानी से चलता है।

अन्य समाचार