मुख्यपृष्ठअपराधड्रग्स के दलदल में बुजुर्ग! रोजगार दिलाकर ‘नरक' में धकेला

ड्रग्स के दलदल में बुजुर्ग! रोजगार दिलाकर ‘नरक’ में धकेला

-उम्रदराज को बनाया ड्रग्स तस्कर
-६० लाख की चरस के साथ दो धराए
जितेंद्र मल्लाह / मुंबई। रोजगार की तलाश में बिहार से मुंबई आए एक ६० वर्षीय बुजुर्ग को एक नायक नामक एक शख्स ने पहले भवन निर्माण कार्य में मजदूर के तौर पर काम दिलाया, बाद में मोटी कमाई का झांसा देकर मादक पदार्थों की तस्करी कराने लगा। वृद्धावस्था का लाभ उठाकर कथित मजदूर नेपाल-बिहार बॉर्डर से चरस मुंबई लाने लगा, जिसे नायक, मुंबई शहर व उपनगर में बेचने लगा।
बुजुर्ग मजदूर के मादक पदार्थों की तस्करी के कारोबार में पहुंचने का राज तब खुला, जब नायक और वह पुलिस के हत्थे चढ़े। मुंबई पुलिस की एंटी नार्कोटिक्स सेल (एएनसी) बांद्रा यूनिट ने उक्त दोनों आरोपियों को ६० लाख, ७५ हजार रुपए की उच्च गुणवत्ता वाली चरस के साथ गिरफ्तार किया है।
डीसीपी दत्ता नलावडे के मार्गदर्शन में एएनसी बांद्रा यूनिट के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक संजय चव्हाण १५ अप्रैल की रात ९ बजे अपने सहयोगियों के साथ धारावी इलाके में गश्त कर रहे थे। धारावी के राजीव गांधी नगर स्थित कोलीवाडा बस स्टॉप के पास बांद्रा यूनिट की टीम को दो लोग संदिग्ध अवस्था में खड़े दिखे। संजय चव्हाण की टीम ने उन्हें हिरासत में लेकर तलाशी ली तो ४५ वर्षीय संदीप नायक नामक शख्स के पास एक किलो १० ग्राम और दूसरे ६० वर्षीय नौमन मिया नामक बुजुर्ग (दोनों नाम बदले हुए) के पास एक किलो १५ ग्राम चरस बरामद हुई। पूछताछ में बुजुर्ग ने बताया कि वह मूलरूप से बिहार के मोतीहारी जिले का निवासी है। वह रोजगार की तलाश में मुंबई आया था। बांद्रा-पूर्व स्थित भारत नगर इलाके में रहने के दौरान संदीप नायक ने नौमन मियां को मजदूर का काम दिलाया। नायक पहले से ड्रग्स का छोटा-मोटा कारोबार चलाता था। नौमन से बातचीत के दौरान उसे पता चला कि बिहार-नेपाल बॉर्डर पर ड्रग्स आसानी से मिलती है, तो नायक ने नशीले जहर के अपने धंधे को बड़ा बनाने की योजना बनाई। उसने नौमन को मोटी कमाई का लालच दिया और वह झांसे में फंस गया। नौमन अपने उम्र की आड़ में बिहार से चरस मुंबई लाने लगा और नायक से साथ मिलकर बेचने लगा।
एमडी-कोकीन के साथ नाइजेरियन धराया
एक अन्य मामले में मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच यूनिट- १० ने एक नाइजीरियन शख्स को २० लाख रुपए की एमडी व १० लाख रुपए की कोकीन के साथ गिरप्तार किया है। बताया जा रहा है कि यूनिट-१० के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक महेश ठाकुर अपनी टीम के साथ अंधेरी-पश्चिम में आजाद मैदान मेट्रो स्टेशन के पास स्थित राज पैलेस बार एंड रेस्टोरेंट के पास गश्त कर रहे थे। वहां उन्हें एक नाइजीरियन शख्स संदिग्ध अवस्था में खड़ा दिखा। यूनिट-१० की टीम को पास आता देखकर वह हड़बड़ी में भागने का प्रयास करने लगा। यूनिट-१० की टीम ने उसे तत्परता दिखाते हुए दबोच लिया। उसके पास की थैली में २०० ग्राम एमडी और ३४ ग्राम कोकीन बरामद हुई, जिसकी कुल कीमत ३० लाख, २० हजार रुपए आंकी गई है। महेश ठाकुर ने बताया कि गिरफ्तार नाइजीरियन शख्स मीरा रोड इलाके में रहता है तथा उसे पहले भी एनडीपीएस एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया था। वह गत वर्ष दिसंबर महीने में जमानत पर छूटने के बाद फिर से मादक पदार्थों की तस्करी कर रहा था।

अन्य समाचार