मुख्यपृष्ठअपराधचुनावी ‘पानीपत’ के संकेत! ‘दंगा एक्सप्रेस’ हरियाणा से वाया एमपी फिर...

चुनावी ‘पानीपत’ के संकेत! ‘दंगा एक्सप्रेस’ हरियाणा से वाया एमपी फिर हरियाणा पहुंची, नूंह के बाद इंदौर में तिरंगा रैली पर हुआ था हमला, अब पानीपत में पसरा जातीय दंगों का टेंशन

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
हरियाणा और मध्यप्रदेश दोनों राज्यों में विधानसभा चुनाव करीब आ रहे हैं। ऐसे में भाजपा वहां वोटों के ध्रवीकरण के तहत दंगों का माहौल बनाने की पूरी कोशिश में लगी हुई है। नूंह और गुरुग्राम में इसकी झलक देखी जा चुकी है। अब हरियाणा के नूंह से यह दंगा एक्सप्रेस निकलकर एमपी के इंदौर पहुंची और अब वापस हरियाणा के पानीपत पहुंच चुकी है। पानीपत में तिरंगा रैली के दौरान एक धर्मस्थल के सामने काफी टेंशन खड़ा हो गया और किसी तरह दंगे को टाला जा सका।
मिली जानकारी के अनुसार, तिरंगा रैली के दौरान पानीपत में माहौल बिगाड़ने की पूरी कोशिश की गई थी। इस यात्रा के दौरान कुछ युवकों ने एक धर्मस्थल के बाहर जमकर बवाल किया। इस दौरान उन्होंने धार्मिक नारेबाजी भी की और डीजे बजाए। आरोप है कि कुछ युवक लाठी-डंडे लेकर धर्मस्थल के अंदर भी घुस गए। जिस धर्म स्थल के बाहर हंगामा हुआ, वहां के प्रमुख ने डीजीपी को पत्र लिखकर कार्रवाई करने की मांग की है। इस घटना का वीडियो भी वायरल हुआ है, जिसके बाद पुलिस हरकत में आई है। धर्मस्थल के प्रमुख ने कहा कि सुबह छह बजे धर्मस्थल पर तिरंगा लगा दिया गया था। बावजूद इसके माहौल को बिगाड़ने की कोशिश की गई। इस मामले में डीएसपी ने कहा कि हम माहौल नहीं बिगड़ने देंगे। पुलिस हुड़दंगियों से सख्ती से पेश आएगी। तनाव को देखते हुए धर्मस्थल के बाहर पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। दूसरी तरफ इंदौर में भी ऐसी ही साजिश रची गई थी।
गुरुग्राम में ७० गिरफ्तार
हरियाणा में हिंसा को लेकर १४२ एफआईआर दर्ज की गईं, जबकि ३१२ लोगों को गिरफ्तार किया गया। अकेले गुरुग्राम में हिंसा को लेकर ३७ मामले दर्ज किए गए और अब तक ७० लोगों को गिरफ्तार किया गया, जबकि ९३ लोगों को हिरासत में लिया गया। नूंह में हिंसा के बाद ७०० से ज्यादा अवैध संपत्तियों पर बुलडोजर एक्शन हुए हैं। इनमें से कई ऐसी संपत्तियां भी हैं, जिनका इस्तेमाल पत्थरबाजी के लिए हुआ था। हालांकि, अब पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने इस पर रोक लगा दी है।
बाइक सवारों ने फेंके पेट्रोल बम
इंदौर में दंगे की साजिश रची गई थी। यहां भाजपा युवा मोर्चा की ओर से निकाली गई तिरंगा रैली के बाद तनाव भड़क उठा। किसी तरह मामले पर काबू पाया जा सका। इस दौरान खूब भड़काऊ नारे लगाए गए, जिसके बाद रैली पर न केवल पेट्रोल बम बरसाए, बल्कि पत्थर भी फेंके गए। जानकारी मिलते ही पुलिस एक्शन में आई और तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर घटना की तफ्तीश शुरू कर दी गई है। यह मामला इंदौर के छत्रिपुरा थाना क्षेत्र का है। रैली जब दरगाह चौराहे से होते हुए गंगवाल बस स्टेशन की ओर आ रही थी, तभी एक बाइक पर सवार होकर आए तीन युवकों ने रैली पर पेट्रोल बम फेंक दिया।

अन्य समाचार