" /> इंजीनियर की इंसानियत! ……..सेवानिवृत्त होते ही किया दान

इंजीनियर की इंसानियत! ……..सेवानिवृत्त होते ही किया दान

महापौर निधि में दिए ५१ हजार रुपए
महापौर ने बताया प्रेरणादाई कदम
गरीब और लाचार लोगों के इलाज के लिए वैसे तो कई भामाशाह लोग दान करते हैं। लेकिन कोई मध्यम वर्गीय या साधारण व्यक्ति सेवानिवृत्त होने के बाद मिले अपने पंâड से कुछ रकम दान करने की हिम्मत कम ही जुटा पाता है। ऐसा काम किया है मुंबई मनपा के सहायक इंजीनियर सुखदेव पचारने ने। सुखदेव ने सेवानिवृत्त होने के बाद अपनी विदाई पर कार्यक्रम के आयोजन में खर्च करने की बजाय ५१ हजार रुपए महापौर निधि में जमा कराया है। सुखदेव का यह कदम काफी सराहनीय और प्रेरणादाई माना जा रहा है। महापौर ने सुखदेव पचारने के इस काम की प्रशंसा करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दी। इंजीनियर की इस इंसानियत भरे कार्य की चौतरफा सराहना हो रही है।
बता दें कि इसी वर्ष ३१ मई को सुखदेव की मनपा में सेवा पूरी हुई। उनकी विदाई पर कार्यक्रम आयोजित करने की योजना उनके सहयोगियों ने बनाई थी लेकिन उन्होंने इस प्रकार का कार्यक्रम आयोजन करने की बजाय पैसा गरीब और मजबूर लोगों के इलाज के लिए दान करने का निर्णय लिया।
पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे के जन्मदिन के अवसर पर अर्णब ने किया दान
युवासेनाप्रमुख व पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे के जन्मदिन पर महापौर निधि में बड़ी संख्या में लोगों ने धनादेश जमा कराए। विधायक मंगेश कुडालकर ने २५ लाख रुपए महापौर निधि में दान किए तो ‘दी वायरल फीवर’ नामक वंâपनी ने आदित्य ठाकरे के जन्मदिन पर ५ लाख रुपए महापौर निधि में जमा कराए। इस वंâपनी के मालिक अर्णब कुमार ने महापौर से मुलाकात कर उन्हें ५ लाख रुपए का धनादेश सौंपा।