मुख्यपृष्ठटॉप समाचारED पर EOW होगा हिसाब!... ‘७० कंपनियों से ७ खाते में ट्रांसफर हुए...

ED पर EOW होगा हिसाब!… ‘७० कंपनियों से ७ खाते में ट्रांसफर हुए ५९ करोड़’

•  तीन के बयान दर्ज, अन्य को भेजा नोटिस

सामना संवाददाता / मुंबई । महाराष्ट्र में महाविकास आघाड़ी के नेताओं और उनसे जुड़े लोगों पर कार्रवाई को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) सुर्खियों में है। हालांकि ये आरोप भी लग रहे हैं कि केंद्र की भाजपा सरकार के निर्देश पर ईडी के अधिकारी भाजपा विरोधियों को भ्रष्ट साबित करने का प्रयास कर रहे हैं, जबकि ईडी के अधिकारी खुद ही भ्रष्ट हैं। उन पर फर्जी मामले में फंसाने का खौफ दिखाकर लोगों से वसूली करने के गंभीर आरोप लगे हैं, जिनकी जांच अब मुंबई पुलिस की ईओडब्ल्यू करेगी, यानी ईडी का भी हिसाब होगा।
बता दें कि शिवसेना नेता संजय राऊत ने ८ मार्च को शिवसेना भवन में आयोजित पत्रकार परिषद में ईडी अधिकारियों पर वसूली के गंभीर आरोप लगाए थे। इस दौरान उन्होंने खुलासा किया था कि जीतू नवलानी नामक व्यापारी के माध्यम से वसूली का यह खेल खेला जा रहा है। इसी दौरान शिवसेना के अरविंद भोसले ने इसी मामले में मुंबई पुलिस में शिकायत करते हुए ७० कंपनियों की लिस्ट पुलिस को दी थी। उसमें बताया गया है कि इनसे पैसों की वसूली की गई थी। वसूली के ५९ करोड़ रुपए ७ अलग-अलग कंपनियों में ट्रांसफर किए गए थे। उन्होंने यह आरोप भी लगाया था कि इन कंपनियों का नवलानी से लिंक है, जिसकी मुंबई पुलिस की ईओडब्ल्यू ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने शिकायत में उल्लिखित कंपनियों और उनसे जुड़े लोगों को नोटिस भेजकर जवाब दर्ज कराने के लिए बुलाया है, जिसमें से तीन लोगों का बयान दर्ज कर लिया गया है। पुलिस जांच कर रही है कि उनकी कंपनी को पैसे मिले तो कहां से मिले? हालांकि ईओडब्ल्यू ने अभी तक जितु नवलानी और ईडी के अधिकारियों को किसी भी तरह का कोई नोटिस नहीं भेजा है। इस मामले में पुलिस आगे की रणनीति पर भी विशेष तौर पर ध्यान दे रही है।

अन्य समाचार