मुख्यपृष्ठसमाचारमहंगी सब्जी महंगी दाल, कब‌ जाएगी केंद्र सरकार!

महंगी सब्जी महंगी दाल, कब‌ जाएगी केंद्र सरकार!

• जम्मू में शिवसेना ने महंगाई के विरोध में किया प्रदर्शन
• पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग
सामना संवाददाता / जम्मू । शिवसेना जम्मू-कश्मीर इकाई के नेताओं ने महंगाई डायन से आम जनता को राहत देने एवं पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने के साथ इसे जीएसटी के दायरे में लाने की मांग को लेकर जोरदार विरोध-प्रदर्शन किया। शिवसेना जम्मू-कश्मीर इकाई प्रमुख मनीष साहनी के नेतृत्व में एकत्रित शिवसैनिकों ने मध्यवर्ती कार्यालय के बाहर `महंगी सब्जी महंगी दाल, कब‌ जाएगी मोदी सरकार’, `डार्लिंग हुर्इं महंगाई घर-घर मची तबाही’ हाथ में प्लेकार्ड लेकर जोरदार नारेबाजी की।
भाजपा के लिए महंगाई बनी डार्लिंग
शिवसेना जम्मू-कश्मीर इकाई प्रमुख मनीष साहनी ने कहा कि २०१४ से पहले तमाम भाजपा नेताओं के लिए जो महंगाई डायन हुआ करती थी आज डार्लिंग बन‌ चुकी है। जिसके खिलाफ कोई भाजपा का नेता इस पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। साहनी ने कहा कि १०० रुपए का मुफ्त अनाज देने का ढिंढोरा पीटकर पेट्रोल-डीजल और गैस के दाम बढ़ाकर केंद्र की भाजपा सरकार जनता को लूट रही है‌। केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए साहनी ने कहा कि पेट्रोल-डीजल से प्रभावित लगभग तमाम जरूरी वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे हैं । जिससे आम आदमी का बजट बिगड़ चुका है। वहीं सेविंग की तमाम योजनाओं पर ब्याज दर निचले स्तर पर पहुंच चुकी है। टोल टैक्स में भी १० प्रतिशत की वृद्धि हो चुकी है‌। शिवसेना ने पीएम मोदी से पेट्रोल, डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की अपील की है। इस मौके पर मिनाक्षी छिब्बर, राकेश गुप्ता, राज सिंह, बलवीर सिंह, गीता लखोतरा, डिंपल, अश्वनी प्रभाकर, सुमित अबरोल, राजेश‌ हांडा समेत कई नेता एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

अन्य समाचार