मुख्यपृष्ठनए समाचारशाह से मिलने के बाद, फडणवीस के बदले सुर!... बोले, ‘योग्य समय...

शाह से मिलने के बाद, फडणवीस के बदले सुर!… बोले, ‘योग्य समय पर होगा मंत्रिमंडल का विस्तार’

•  केंद्रीय गृहमंत्री से वन-टू-वन चर्चा हुई
• बताई विधायकों की बेचैनी की बात

सामना संवाददाता / मुंबई
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने गत बुधवार को दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से बंद कमरे में चर्चा की थी। इस चर्चा के बाद मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के सुर बदल गए हैं। संभाजीनगर में कल मीडिया द्वारा अमित शाह से मंत्रिमंडल विस्तार के बारे में चर्चा हुई क्या? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि योग्य समय पर योग्य निर्णय लिया जाएगा।
बता दें कि इससे पहले फडणवीस ने कहा था कि बजट सत्र से पहले मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा। राज्य की सहकारी चीनी मिलों की समस्याओं के समाधान के लिए राज्य के नेताओं ने गत दिवस केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने शाह से अलग-अलग चर्चा की। हालांकि, मुख्यमंत्री ने दावा किया था कि बैठक के दौरान कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई। उन्होंने यह भी बयान दिया था कि ‘राज्य में मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होगा। इसके साथ ही मराठवाड़ा को लेकर भी अहम बैठक हुई है, उम्मीद है कि पिछले कुछ सालों के बैकलॉग को लेकर भी चर्चा होगी।’ इसी पृष्ठभूमि पर उपमुख्यमंत्री फडणवीस ने संभाजीनगर में मीडिया के सवालों का जवाब दिया। बताया जाता है कि अमित शाह से मुलाकात के दौरान शिवसेना के चुनाव चिह्न धनुष-बाण का मामला चुनाव आयोग के पास है और मुख्यमंत्री की अयोग्यता का मामला भी सुप्रीम कोर्ट में लंबित है और राज्य में सत्ता संघर्ष के संदर्भ में १४ फरवरी को सुनवाई होनेवाली है। इसके साथ ही राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को राज्यपाल पद से हटाने आदि विषयों पर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे व उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ चर्चा हुई थी।

मुख्य चर्चा कैबिनेट विस्तार पर
बताया जाता है कि अमित शाह ने उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से आधे घंटे तक वन-टू-वन चर्चा की। सूत्रों ने बताया कि वैâबिनेट विस्तार पर मुख्य रूप से चर्चा हुई। सरकार भले ही तोड़फोड़ करके अस्तित्व में आई है, लेकिन वैâबिनेट विस्तार नहीं होने से भाजपा विधायकों में बेचैनी है। बताया जाता है कि फडणवीस ने इस बेचैनी को शाह के कान में डाल दिया है। इसके बाद अमित शाह ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से ४० मिनट तक वन-टू-वन चर्चा की। इस चर्चा में चुनाव आयोग में पार्टी के चुनाव चिह्न विवाद और सुप्रीम कोर्ट में सत्ता संघर्ष के मुद्दे पर चर्चा हुई। जब तक उक्त मामलों के पैâसले नहीं आ जाते, तब तक मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं किया जाएगा। मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया तो शिंदे गुट में भारी फूट पड़ने की संभावना व्यक्त की जा रही है। इसके चलते मंत्रिमंडल विस्तार के संदर्भ में धीरे-धीरे कदम उठाने की नीति अपनाने की सलाह शाह ने दी। यही कारण है कि कल फडणवीस ने मंत्रीमंडल विस्तार के संदर्भ में सुर बदलते हुए कहा कि योग्य समय पर योग्य निर्णय लिया जाएगा।

अन्य समाचार