मुख्यपृष्ठनए समाचारफडणवीस को साम-दाम-दंड-भेद अपनाकर सत्ता पानी थी! ...‘कई बार हुई राकांपा तोड़ने...

फडणवीस को साम-दाम-दंड-भेद अपनाकर सत्ता पानी थी! …‘कई बार हुई राकांपा तोड़ने की कोशिश’

सामना संवाददाता / मुंबई
राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने पार्टी विभाजन पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को तोड़ने के लिए कई बार प्रयास किए गए हैं। देवेंद्र फडणवीस को कुछ भी करके सत्ता में आना था, इसलिए सत्ता में आने के लिए उन्होंने पार्टी तोड़ने के लिए साम-दाम-दंड-भेद सहित सभी हथकंडे अपनाए, ऐसा आरोप सुप्रिया सुले ने लगाया। इसके साथ ही उन्होंने यह भी दावा किया कि राकांपा में कोई फूट नहीं है। सुप्रिया सुले ने कहा कि राकांपा को तोड़ने की कई बार कोशिशें हुई हैं। कई बार ये प्रयास विफल हो गए हैं तो कभी सफल भी हो गए हैं। उन्होंने आगे कहा कि राकांपा में अब तक कोई विभाजन नहीं हुआ है। हममें से कुछ लोगों ने एक अलग निर्णय लिया है। इसकी शिकायत हमने विधानसभा अध्यक्ष से की है। शिकायत पर कार्रवाई की जा रही है। राकांपा में कोई फूट नहीं है। राकांपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार हैं और महाराष्ट्र अध्यक्ष जयंत पाटील हैं। उक्त दोनों के नेतृत्व में हम सब सभी काम करते हैं, ऐसा सुप्रिया सुले ने कहा। पत्रकारों ने पूछा अजीत पवार का राकांपा में क्या स्थान है? पत्रकारों के इस सवाल के जवाब में सुप्रिया सुले ने कहा कि अजीत पवार राकांपा के वरिष्ठ नेता और विधायक हैं। अब उन्होंने पार्टी विरोधी भूमिका अपनाई है, जिसकी शिकायत विधान सभा अध्यक्ष से की गई है। हम विधान सभा अध्यक्ष के जवाब का इंतजार कर रहे हैं।

अन्य समाचार

लालमलाल!